स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घटना के दूसरे दिन भी अपह्त ग्रामीण का नहीं चला पता

Bhaneshwar Sakure

Publish: Nov 19, 2019 21:42 PM | Updated: Nov 19, 2019 21:42 PM

Balaghat

जंगलों में अलग-अलग क्षेत्रों में खोजते रही पुलिस, नक्सलियों ने किया है एक ग्रामीण का अपहरण, लांजी थाना क्षेत्र के चिलकोना गांव की घटना

बालाघाट. लांजी थाना क्षेत्र के चिलकोना गांव में घर से नक्सलियों द्वारा अपह्त ग्रामीण का दूसरे दिन भी पता नहीं चल पाया। इधर, पुलिस अपह्त ग्रामीण का पता लगाने के लिए जंगल में लगातार सर्चिंग करते रही। लेकिन कहीं भी उसका पता नहीं लग पाया। वहीं दूसरी ओर घटना के बाद से ग्रामीणों में काफी दहशत का माहौल है। कोई भी ग्रामीण पुलिस से खुले रुप में कुछ भी नहीं कह पा रहा है।
जानकारी के अनुसार चिलकोना निवासी मेघलाल पिता सुकाली मसराम (४५) का १७ नवम्बर को तीन अज्ञात हथियारबंद नक्सलियों ने अपहरण कर लिया। इस घटना के दौरान तीन नक्सली मौजूद थे। वहीं इस घटना की शिकायत मेघलाल की पत्नी शांति बाई ने देवरबेली चौकी में दर्ज कराई है। पत्नी की शिकायत के बाद पुलिस ने अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ धारा ३६४, ३६५, ११-१३ सहित अन्य धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर प्रकरण को जांच में लिया गया है। पुलिस ने बताया कि मेघलाल की पत्नी शांति बाई के अनुसार उसके पति का अपहरण करने के दौरान वह नक्सलियों से भी भीड़ गई थी। जिसके चलते नक्सलियों ने उसके साथ बंदुक की बट और हाथों से मारपीट की। वहीं दूसरी ओर इस घटना के बाद से ग्रामीणों में काफी दहशत का माहौल है। पुलिस लगातार ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है, लेकिन ग्रामीण नक्सलियों के भय के चलते स्पष्ट कुछ भी नहीं कह पा रहे हैं। मंगलवार को लांजी एसडीओपी नितेश भार्गव ने मेघलाल के पुत्र, भाई से भी इस संबंध में चर्चा की है। लेकिन उन्होंने भी कुछ जानकारी नहीं दी। परिजनों ने स्पष्ट रुप से कहा कि रात्रि में अंधेरा होने की वजह से उन्होंने नक्सलियों को नहीं पहचान पाए।
गोली मारने की अफवाह
मेघलाल का अपहरण करने की घटना के दूसरे दिन गोली मारकर उसकी हत्या करने की अफवाह चलते रही। लेकिन पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की। लांजी एसडीओपी ने बताया कि इस तरह की अफवाह चलते रही है। लेकिन कहीं भी कोई निशान या सबूत नहीं मिल पाए और न ही कोई शव। जब तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल जाता तब तक इस बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।
पांच पार्टियां करते रही सर्चिंग
इधर, घटना के बाद से जहां पुलिस अलर्ट पर है। वहीं दो दिनों से पुलिस की पांच पार्टी लगातार जंगल में सर्चिंग कर रही है। अलग-अलग दलों में पुलिस बल सर्चिंग कर रही है। विदित हो कि जिले में एक बार फिर से नक्सलियों ने अपनी हलचल बढ़ा दी है। लांजी क्षेत्र में ही मुठभेड़ में दो नक्सलियों के मारे जाने के बाद से कुछ दिनों के लिए उनका मूवमेंट कम हो गया था। लेकिन अब फिर से नक्सली हलचल बढ़ गई है।
इनका कहना है
पांच पुलिस पार्टी लगातार सर्चिंग कर रही है। नक्सलियों द्वारा गोली मारे जाने की अफवाह चलते रही, लेकिन कहीं इसके कोई साक्ष्य नहीं मिले है। अपहरण के संबंध में पीडि़त परिवार से भी संपर्क किया गया था, लेकिन वे भी कुछ स्पष्ट नहीं बता रहे हैं।
-नितेश भार्गव, एसडीओपी, लांजी

[MORE_ADVERTISE1]