स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निर्माण कार्यों के नाम पर फिर शुरू हुआ रेत का अवैध खनन

Bhaneshwar Sakure

Publish: Oct 19, 2019 20:55 PM | Updated: Oct 19, 2019 20:55 PM

Balaghat

वन विभाग ने जब्त किया ट्रैक्टर

बालाघाट. जिले में मानसून अवधि पर रेत खनन में लगाए गए प्रतिबंध के हटते ही अवैध खनन का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। माफिया निर्माण कार्यों के नाम पर रेत का न केवल अवैध खनन कर रहे हैं। बल्कि उसका परिवहन भी धड़ल्ले से कर रहे है। जिसके कारण शासन को राजस्व की क्षति हो रही है। हालांकि, राजस्व, वन विभाग द्वारा सूचना मिलने पर ऐसे स्थानों पर दबिश देकर कार्रवाई भी कर रही है। लेकिन यह कार्रवाई केवल औपचारिकता साबित हो रही है। जिसके कारण माफिया के हौंसले बुलंद होते जा रहे है। वहीं माफिया द्वारा नदी-नालों को छलनी भी किया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार जिले में समनापुर, मगरदर्रा, लामता, पादरीगंज, बैहर, बिरसा, परसवाड़ा, गढ़ी क्षेत्र में रेत के अवैध खनन और परिवहन का कार्य धड़ल्ले से किया जा रहा है। इधर, हाल ही में बालाघाट एसडीएम के निर्देश पर राजस्व अमले ने मगरदर्रा के समीप बड़े पैमाने पर रेत का अवैध रुप से किए गए भंडारण को जब्त किया था। वहीं बीती रात्रि वन विभाग मंडई के वन अमले ने भी एक वाहन को जब्त किया है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार परिक्षेत्र पूर्व बैहर सामान्य अंतर्गत मंडई वृत में रेत का अवैध खनन कर परिवहन करते हुए वन विभाग ने एक ट्रैक्टर को जब्त किया है। जब्त वाहन को वन विभाग के मंडई कार्यालय में रखा गया है। इस कार्रवाई के दौरान डिप्टी रेंजर टीएस मरावी, वनरक्षक नीरज खटीक, ओमकार चौधरी, राजिक खान, संतोष मरावी, रंजीत धुर्वे, अनिल गेरसिया, राजू मरकाम मौजूद थे।