स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मस्जिदों में अदा की गई ईद-ए-अजहा की नमाज

Mukesh Yadav

Publish: Aug 12, 2019 21:31 PM | Updated: Aug 12, 2019 21:31 PM

Balaghat

एक-दूसरे से गले मिल दी ईद की मुबारकबाद

बालाघाट. कुर्बानी का पर्व ईद-ए-अजहा १२ अगस्त को पूरे जिले भर में भी आपसी सौहार्द, भाईचारे के साथ शांतिपूर्ण माहौल में मनाया गया। मुस्लिम समुदाय के इस पर्व पर सभी मस्जिदों में निर्धारित समय अनुसार ईद की नमाज अदा की गई। तत्पश्चात मुस्लिम बंधुओं ने आपस में गले मिलकर एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। सुबह से ही मस्जिदों में नमाज अदा करने मुस्लिम बंधुओं की भीड़ उमडऩे लगी।
गौरतलब हो कि इस्लामिक वर्ष के अंतिम माह को मुस्लिम समाज द्वारा कुर्बानी की याद में ईद-ए-अजहा का पर्व मनाया जाता है। चांद की दस तारीख को आने वाले इस पर्व की मान्यता है कि इसी दिन अल्लाह के नबी हजरत इब्राहिम ने अल्लाह को अपने सबसे कीमती बेटे हजरत इस्माइल को कुर्बानी की राह में कुर्बान करने का फैसला लिया था। जिसके बाद पुत्र की कुर्बानी से प्रसन्न होकर अल्लाह ने पुत्र के स्थान पर नबी हजरत इब्राहिम की दुंबे की कुर्बानी स्वीकार की थी। जिसको लेकर मुस्लिम समाज ईद-ए-अजहा का पर्व मनाता है। नगर मुख्यालय में बारिश के मौसम को देखते हुए पुलिस लाइन स्थित ईदगाह मैदान में नमाज न होकर सभी मस्जिदों में नमाज अदा की गई।
इन मस्जिदों में हुई नमाज
नगर मुख्यालय में ईद की नमाज निर्धारित समय पर मस्जिदों में पढ़ी गई। जिसमें जामा मस्जिद में दो जमात में नमाज अदा की गई। पहली जमात सुबह ७.३० बजे व दूसरी जमात ९ बजे हुई। इसी तरह गौसिया मस्जिद बूढ़ी, कोसमी मस्जिद में दो जमात में नमाज हुई। इसके अलावा अन्य मस्जिद नूरी मस्जिद, जामेआ नूरिया, मोतीनगर मस्जिद, गरीब नवाज मस्जिद, सागौनवन वार्ड नंबर १ ढीमरटोला स्थित साबरी मस्जिद में एक जमात में नमाज अदा की गई। इसी तरह जिले की मस्जिदों में भी ईद की नमाज अदा की गई। ईद पर्व को लेकर शांति व सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस प्रशासन द्वारा सभी मस्जिदों में पुलिस जवान की तैनाती की गई थी। इसके अलावा पुलिस मोबाइल द्वारा भी शहर में गश्त किया गया।
दखनीटोला में मनाया ईद-ए-अजहा
कुर्बानी का पर्व ईद-ए-अजहा दखनीटोला लांजी में भी आपसी सौहार्द, भाईचारे के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मस्जिद में ईद की नमाज अदा की गई। तत्पश्चात मुस्लिम बंधुओं ने आपस में गले मिलकर एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। इस अवसर पर दखनीटोला, बिसोनी, नीमटोला, मंडईटेकरी सहित आस-पास गांव के मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल रहे।