स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंधड़-बारिश के निशां बाकी : आड़ी बिछ गई फसलें, खेतों में भरा पानी

Narottam Sharma

Publish: Sep 20, 2019 18:25 PM | Updated: Sep 20, 2019 18:25 PM

Bagru

Heavy rains in Jaipur, water on farmers' expectations :- जयपुर जिले में दो दिन पहले हुई तेज बारिश व अंधड़ ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया है। बारिश के कारण खेतों में अभी तक भी पानी The fields are still waterlogged due to rain भरा हुआ है। इससे फसलें खराब हो Crops are spoiled गई है। ऐसे में किसानों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है।

जयपुर. जयपुर जिले के कई गांवों में दो दिन पहले आई तेज बारिश व अंधड़ के निशां अभी भी दिखाई दे रहे हैं। कई स्थानों पर अभी भी पेड़ गिरे हुए हैं वहीं खेतों में बारिश का पानी भरा (The fields are full of rain water) है। इससे किसान की तैयार फसल खराब होने के साथ उसके अरमानों पर पानी (Heavy rains in Jaipur, water on farmers' expectations) फिर गया है। किसानों ने मुआवजे की भी मांग की है। जानकारी के अनुसार बगरू क्षेत्र के ग्राम पंचायत रामपुराऊंती, दहमीकला, देवलिया तथा अजयराजपुरा ग्राम पंचायत के हंसमपुरा व लाकावास, भांकरोटा सहित एक दर्जन से अधिक गावों में बुधवार अपरान्ह आए तेज अंधड़ के साथ बारिश से खेतों में पकी हुई खड़ी फसल पसर गई। खेतों में पानी भर गया।

इन गांवों में हुआ फसल में नुकसान
ग्राम हंसमपुरा निवासी मोताराम चौधरी, जयजसपुरा निवासी सुरेश चलावरिया, मदन चौधरी व लाकावास भांकरोटा निवासी कालुराम जाट आदि ग्रामीणों ने बताया कि अचानक आए तेज अंधड़ व बारिश से खेतों में खड़ी पकी हुई बाजरे की फसल पसर गई। किसानों का कहना है कि कटी हुई बाजरे व मूंग की फसल करीब 40 प्रतिशत से अधिक खराब हो (Crop worsened by more than 40 percent) गई है। लाकावास-जयजसपुरा, ग्राम पालड़ी-परसा, टिल्यावास आदि गांवों में फसलों में नुकसान हुआ है। उधर ग्राम पंचायत रामपुराऊती व दहमीकला में भी फसल को काफी नुकसान हुआ है। कई स्थानों पर अगेती बुआई की दलहन फसलों की किसानों ने कटाई शुरू कर दी है। लगातार बारिश की वजह से दलहन के दाने की गुणवत्ता खराब होने की संभावना बन गई है।

फसलें बिछ गई, लेकिन नुकसान कम
अंधड़ व बारिश से फसलें आड़ी बिछ गई है, लेकिन उत्पादन में नुकसान कम हुआ है। ग्राम हसमपुरा, जयजसपुरा व रामपुराऊंती सहित कई गांवों में अगेती कटी हुई बाजरे की फसल करीब 20 से 25 प्रतिशत नुकसान पहुंचा है।

- विद्यासागर बावलिया, सहायक कृषि अधिकारी, बगरू