स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आखिर पौने तीन साल बाद चली ट्रेन, देखने उमड़े हजारों लोग

Ramakant Dadhich

Publish: Oct 22, 2019 00:04 AM | Updated: Oct 22, 2019 00:04 AM

Bagru

आमान परिवर्तन के बाद रींगस से पहली बार सवारी गाड़ी के तौर पर रवाना हुई

चौमूं. रींगस-जयपुर रेलमार्ग पर आमान परिवर्तन के बाद रींगस से पहली बार सवारी गाड़ी के तौर पर रवाना हुई डीएमयू टे्रन को देखने के लिए हजारों लोग सोमवार शाम रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। जैसे ही टे्रन स्टेशन पर पहुंची तो मौजूद भाजपा व कांग्रेस नेताओं ने टे्रन के चालक-सहायक लोको पायलट का साफे बंधवाकर एवं फूलमालाओं से जोरदार स्वागत किया। साथ ही भाजपाइयों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तो कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नारे लगाए। दो मिनट के ठहराव के बाद टे्रन जयपुर के लिए रवाना हुई। इससे पहले शाम को रींगस स्टेशन पर सांसद सुमेधानंद सरस्वती, क्षेत्रीय विधायक रामलाल शर्मा समेत अन्य जनप्रतिनिधियों व रेल अधिकारियों की मौजूदगी में दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए डीएमयू टे्रन को रवाना किया।

जानकारी के अनुसार रींगस स्टेशन परिसर में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि सांसद सुमेधानंद सरस्वती, रींगस नगरपालिका अध्यक्ष हरिशंकर निठारवाल एवं उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर की मंडल रेल प्रबंधक मंजूषा जैन समेत बड़ी संख्या में रेल अधिकारी व जनप्रतिनिधि रहे मौजूद थे। दिल्ली से रेल मंत्री पीयूष गोयल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए डीएमयू टे्रन का रवानगी दी।
शाम 5.30 बजे रींगस से रवाना होकर टे्रन छोटा गुढ़ा, गोविन्दगढ़-मलिकपुर, लोहरवाड़ा होते हुए चौमूं रेलवे स्टेशन पर शाम 6.27 बजे पहुंची, जहां भाजपा विधायक रामलाल शर्मा एवं पूर्व विधायक भगवानसहाय सैनी के नेतृत्व में भाजपा और कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों, पूर्व जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं ने टे्रन के पायलट एवं सहायक पायलट का साफे बंधवाकर एवं फूलमालाएं पहनाकर स्वागत किया। इसके बाद टे्रन को दो मिनट के ठहराव के बाद 6.29 मिनट पर भट्टों की गली, जयपुर के लिए रवाना किया गया।

57 किलोमीटर का सफर
जयपुर-सीकर रेल आमान परिवर्तन कार्य को लेकर इस रेलमार्ग पर 15 नवम्बर 2016 को टे्रनों का संचालन पूरी तरह बंद कर दिया था। सीकर-रींगस रेलमार्ग का पूर्व में आमान परिवर्तन कार्य हो जाने के कारण रेलगाडिय़ों का संचालन कर शुरू कर दिया गया था, लेकिन जयपुर-रींगस के बीच 57 किलोमीटर लम्बाई का रेलमार्ग का कार्य अप्रेल, 2019 में पूरा हुआ था, जिसका सीआरएस निरीक्षण 24-25 अप्रेल को करवाया गया था। इसके बाद आचार संहिता आड़े आ जाने एवं इसके बाद सीआरएस निरीक्षण की तीन महीने की अवधि पूरी होने के कारण दुबारा से सुरक्षा संबंधी प्रक्रिया शुरू की गई, जिसके चलते टे्रन चलाने में देरी हुई।

पहले दिन जयपुर के 14 टिकट बिके

आमान परिवर्तन के बाद पहली बार चली डीएमयू टे्रन को लेकर चौमूं समेत आस-पास क्षेत्र के लोगों में खासा उत्साह था। शाम 5.30 बजे से ही बच्चे, महिलाएं एवं अन्य टे्रन देखने के लिए हजारों की तादाद स्टेशन पहुंचे। स्टेशन के बाहर बड़ी संख्या में मोटरसाइकिल, ऑटो रिक्शा, कार-जीप आदि वाहन खडे नजर आए। टिकट खिडक़ी पर यात्री टिकट व मासिक सीजन टिकट कार्ड बनवाते नजर आए। पहले दिन टिकट खिडक़ी से 14 टिकट जयपुर के बिके तथा पांच एमएसटी कार्ड बनाए गए। चौमूं से जयपुर का टिकट दस रुपए का है। इधर, विधायक रामलाल शर्मा ने गोविन्दगढ़ स्टेशन से चौमूं तक का टिकट लेकर यात्रा की।
मोदी-गहलोत के गूंजे नारे

चौमूं रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में भाजपा व कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद थे। विधायक शर्मा व पूर्व विधायक सैनी तो गोविन्दगढ़ से ही इस टे्रन में सवार होकर आए। चौमूं स्टेशन पर विधायक व पूर्व विधायक एवं अन्य लोगों ने टे्रन के पायलट व सहायक लोको पायलट का स्वागत किया। इस दौरान भाजपाइयों ने नरेन्द्र मोदी जिंदाबाद व भारत माता की जय के नारे लगाए तो कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नारे लगाए।
भाजपा व कांग्रेस में श्रेय की होड़

यूं तो जयपुर-रींगस के बीच आमान परिवर्तन कार्य पूरा होने के बाद रेलगाडिय़ों का संचालन होना ही था, लेकिन सोमवार को जैसे ही रींगस-जयपुर के बीच टे्रन चली तो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने ब्रॉडगेज लाइन की परियोजना स्वीकृत करवाने का श्रेय पूर्व विधायक भगवानसहाय सैनी को दिया तो भाजपा कार्यकर्ताओं ने रेल परियोजना एवं टे्रन चलाने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, सांसद सुमेधानंद सरस्वती और विधायक रामलाल शर्मा को देने में लगे रहे।

गोविन्दगढ़ में दिखा उत्साह
गोविंदगढ़. रींगस से जयपुर के लिए रवाना हुई डीएमयू ट्रेन शाम को गोविंदगढ़ रेलवे स्टेशन पर पहुंची तो सैकड़ों ग्रामीणों ने ट्रेन ड्राइवर व गार्ड को माला पहनाकर स्वागत किया। चौमूं विधायक रामलाल शर्मा, पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी, कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष गिर्राज देवन्दा, गोविंदगढ़ सरपंच गोपाल डेनवाल, मलिकपुर जीएसएस अध्यक्ष दिनेश यादव, एडवोकेट भीवाराम यादव, पंचायत समिति सदस्य नरेंद्र जांगिड़ भी उपस्थित थे। बाद में विधायक व पूर्व विधायक ने रेलवे स्टेशन से टिकट लेकर गोविंदगढ़ से चौमंू तक का सफर किया।

लोहरवाड़ा में भी स्वागत

उदयपुरिया. डीएमयू ट्रेन के लोहरवाड़ा स्टेशन पर शाम 6.16 मिनट पर पहुंची। यहां ट्रेन रुकते ही सबसे पहले सरपंच जगदीश यादव के नेतृत्व में ग्रामीणों ने ट्रेन के स्टाफ का स्वागत किया। ट्रेन का स्वागत सत्कार करने के लिए ग्रामीणों का हुजूम खड़ा था।

भट्टों की गली में झूमे लोग
रामपुरा-डाबड़ी. सोमवार देर शाम 6.42 बजे भट्टों की गली स्टेशन पर डेमू ट्रेन पहुंचने पर 2 साल 11 माह के लंबे इंतजार के बाद खुशी नजर आई। ट्रेन के चालक मोहनलाल वर्मा व संदीप कुमार का सरपंच मोहन सिंह राव, पूर्व सरपंच रामनिवास घोसल्या समेत बड़ी संख्या में लोगों ने चूनरी का साफा बंधवा कर स्वागत किाय। मिठाई भी बांटी। पहले दिन दो टिकट जयपुर के काटे गए।