स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Negligence: एक को बचाने के प्रयास में तीन बालिकाएं डूबी, मौत

Teekam Saini

Publish: Aug 30, 2019 06:01 AM | Updated: Aug 30, 2019 00:10 AM

Bagru

Three girls drown दूदू के गांव नोल्या की घटना

दूदू (Negligence). बारिश के दिनों पानी भरने से लबालब हुई गांव की नाड़ी तीन बेटियों के लिए काल का ग्रास बन गई। गांव नोल्या में गुुरुवार को दोपहर करीब तीन बजे 13 वर्षीय रिंकू अपनी सहेली मंशा (13)और अपनी छोटी बहन पूजा (9) के साथ इस नाड़ी में स्कूल से आते ही घर पर बस्ता रखकर बिना बताए नहाने गई थी। तीनों नाड़ी में नहा रही थी, रिंकू गहरे पानी में डूबने लगी तो सहेली मंशा व बहन पूजा ने बचाने की कोशिश की, लेकिन वे दोनों भी गहरे पानी की ओर चली गई। कोशिश नाकामयाब होने से तीनों बच्चियां ही पानी में डूब (Three girls drown) गई। आसपास के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार, एक दूसरे को बचाने के प्रयास में तीनों बच्चियां डूब गई। घटना की जानकारी मिलने पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तीनों बच्चियों को नाड़ी से बाहर निकालकर दूदू के राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां चिकित्सकों ने तीनों बच्चियों को मृत घोषित कर दिया। इधर, मौत की सूचना मिलते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लक्ष्मण दास स्वामी, पुलिस उप अधीक्षक देवेन्द्र सिंह, एसआई नेमीचन्द, एएसआई त्रिाुवन सिंह व मुकेश कुमार सहित कई पुलिसकर्मी भी अस्पताल पहुंच गए। पुलिस ने तीनों का पोस्टमार्टम करवाया। पोस्टमार्टम करने के बाद शव परिजनों को सौंप दिए। करीब 700 की आबादी के गांव में बच्चियों की मौत के बाद शोक (Wave of grief) छाया है।
तीनों एक ही स्कूल में पढ़ती थी
रिंकू, पूजा व मंशा गांव के ही राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में पढ़ती थी। रिंकू व मंशा छठी कक्षा में और पूजा चौथी कक्षा में पढ़ती थी। तीनों बच्चियां पढने में भी होशियार (intelligent student) थी। रिंकू व मंशा आपस में सहेली थी।
गांव में शोक की लहर
नाड़ी में डूबने से हुई तीन मासूम बच्चियों की मौत के बाद गांव में जहां शोक की लहर (Wave of grief) दौड़ गई। गांव में किसी के घर चूल्हें नहीं जले। वहीं बच्चियों के परिवारों में कोहराम मचा हुआ है। बच्चियों के मौत की खबर के बाद ही उनकी मां बेसुध है। परिवार के लोगों का रो-रो कर बुरा हाल है।
बीपीएल परिवार की थी बेटियां
रिंकू व पूजा के पिता उगमाराम जाट बीपीएल परिवार (BPL Family) में शामिल है। उगमाराम ने प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान बना रखा है। इसके तीन पुत्रियां व एक पुत्र है, अब एक पुत्री व एक पुत्र है। वहीं कालूराम जाट की आर्थिक स्थिति तो भी ठीक नहीं है। उसका स्वयं का मकान भी नहीं है। वह अपने परिवार सहित भाई के साथ रहता है। कालूराम के तीन पुत्रियां व एक बड़ा पुत्र है।