स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दूध पाउडर व रिफाइंड तेल से बनकर आता था मिल्क केक

Kashyap Avasthi

Publish: Oct 22, 2019 23:20 PM | Updated: Oct 22, 2019 23:20 PM

Bagru

- 12 हजार किलो से अधिक मावा नष्ट किया, तीन गिरफ्तार
- मिलावटखोरों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया

जयपुर. जिला जयपुर ग्रामीण पुलिस के साथ ही चिकित्सा एवं खाद्य विभाग की टीम ने फुलेरा में दो गोदामों से जब्त 12 हजार किलो मावा देर रात नष्ट किया गया। पुलिस ने मिलावटी मावा बेचने के आरोप में तीन जनों को गिरफ्तार किया है। उधर, कारवाई का असर मंगलवार को भी दिखा। कई मिठाई के दुकानें दिनभर नहीं खुली। वहीं कुछ ने सुबह कुछ देर खोली और बाद में बंद कर चले गए। जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि रात करीब डेढ बजे फुलेरा जेल के पास नरेना रोड पर जेसीबी से गड्ढा खुदवाकर जब्त मिलावटी मावे को नष्ट कराया गया।


एएसआई प्रकाश सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि सोमवार को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि फुलेरा के गणगौरी बाजार स्थित मिष्ठान भण्डार पर नकली मावा बाहर से लाकर ताल की ढाणी तन काचरोदा में रामपाल जाट के मकान में गोदाम में रखा है। जिस पर वहीं गांधी चौक स्थित मिठाई की दुकान पर भी मिलावटी मावा बिक रहा है।
इस पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी विनोद कुमार शर्मा, भानू प्रताप सिंह गहलोत, संदीप अग्रवाल, विशाल मित्तल, विनोद कुमार धारवान, आलोक टांक एवं दीपक कुमार सिंधी ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय की स्पेशल टीम के सदस्य हेमराज मीणा, सहायक उपनिरीक्षक मदन लाल, कांस्टेबल जितेन्द्र कुमार, फुलेरा थाना प्रभारी सुरेन्द्र सिंह, नरेना इंचार्ज प्रभारी रघुवीर सिंह टीम के रामपाल जाट के मकान में छापा मारकर 210 बड़े पैक कर्टन थे।

जिनमें एक कर्टन में 4-4 किलो के 14 डिब्बे मिले। यहां से कुल 11 हजार 760 किलो मिल्क केक जब्त किया गया। जाट ने यह माल गणगौरी बाजार की शर्मा मिष्ठान भंडार का होना बताया। इसके बाद टीम ने दुकान का निरीक्षण किया तो दुकान व रामपाल जाट के घर जब्त किए मावे का मिलान हो गया। दुकान के मालिक त्रिलोकचंद से जानकारी चाही तो उसने यह माल खुद का होना बताया।


इसके बाद पुलिस ने त्रिलोक चंद निवासी गणगौरी बाजार, हिमांशु शर्मा व नोरतमल सैनी निवासी श्रीरामनगर लोको रोड फुलेरा को गिरफ्तार किया गया। मामले की जांच सांभर सीआई पूरणमल यादव कर रहे हैं। मंगलवार को तीनों आरोपियों को न्यायालय में पेश किया जहां से मजिस्टे्रट ने उन्हें दो दिन के रिमांड पर भेज दिया।


रिफाइंड तेल से बनी थी मिठाई
दुकानदार ने पूछताछ में बताया कि मिल्क केक दूध, मावा व चीनी से बना हुआ होना चाहिए। लेकिन यह मिल्क पाउडर एवं रिफाइंड तेल से बना हुआ है। इसके बाद पूरण मिष्ठान भण्डार पहुंचे जहां नोरतमल सैनी की दुकान में भी मिलावटी मावा मिला। उसने बताया कि यह उसके पास 150 रुपए किलो के हिसाब से आता है।