स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अजब फरमान: भूगोल पढ़ाकर, अंग्रेजी की परीक्षा लेने पर आमादा शिक्षा विभाग

Ramakant Dadhich

Publish: Aug 20, 2019 00:01 AM | Updated: Aug 20, 2019 00:01 AM

Bagru

निदेशालय की लापरवाही के चलते एक माह में ही विषय परिवर्तन करने से गुस्साए विद्यार्थियों एवं अभिभावकों ने सोमवार को विरोध-प्रदर्शन किया। अणतपुरा स्कूल के तालाबंदी कर विद्यार्थियों ने तीन घंटे धरना दिया। वहीं बागरियावास में ग्रामीणों ने मुख्य द्वार के ताला लगाकर प्रदर्शन किया।

मूंडरू. क्षेत्र के ग्राम बागरियावास व अणतपुरा के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में सरकार एवं निदेशालय की लापरवाही के चलते एक माह में ही विषय परिवर्तन करने से गुस्साए विद्यार्थियों एवं अभिभावकों ने सोमवार को विरोध-प्रदर्शन किया। अणतपुरा स्कूल के तालाबंदी कर विद्यार्थियों ने तीन घंटे धरना दिया। वहीं बागरियावास में ग्रामीणों ने मुख्य द्वार के ताला लगाकर प्रदर्शन किया। सूचना पर अणतपुरा स्कूल में मौके पर पहुंची सीबीईओ मीना बंसन ने ग्रामीणों एवं प्रदर्शनकारियों से समझाइश कर मामला शांत कराया।
अभिभावकों ने कहा कि तीन जुलाई को अणतपुरा स्कूल में अंग्रेजी साहित्य के बजाय भूगोल विषय परिवर्तन का आदेश जारी हुआ था तथा चार जुलाई को अंग्रेजी के व्याख्याता को निदेशालय के लिए रिलीव कर दिया गया। इसके बाद से ही स्कूल में अंग्रेजी के बजाय भूगोल विषय पढ़ाया जा रहा था, लेकिन पांच अगस्त को निदेशालय ने एक आदेश जारी कर पूर्व में संचालित ऐच्छिक विषय यानि अंग्रेजी विषय ही संचालन करने के निर्देश जारी कर दिए।
जिसकी जानकारी स्कूल प्रबंधन एवं अभिभावकों को तेरह अगस्त को हुई। 15 अगस्त को आयोजित एसडीएमसी की बैठक में अभिभावकों एवं विद्यार्थियों ने एकजुट होकर भूगोल विषय ही संचालित रखने का प्रस्ताव निदेशालय भिजवाया गया है। चार दिन के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होने पर गुस्साए विद्यार्थियों एवं ग्रामीणों ने सुबह प्रार्थना सभा का बहिष्कार कर धरना शुरू कर दिया।
वहीं बागरियावास में भूगोल विषय की जगह इतिहास विषय परिवर्तन करने के खिलाफ सतीश शर्मा,विक्रम सिंह शेखावत, कैलाश तिवाड़ी, उजागर सिंह आदि ने तालाबंदी कर विरोध प्रदर्शन किया तथा एसडीएम लक्ष्मीकांत गुप्ता को ज्ञापन सौंपकर विषय यथावत रखने की मांग की। दोनों ही स्कूलों के विद्यार्थियों का कहना है कि प्रथम टेस्ट चल रहे हैं अब नए विषय को बिना पढ़े टेस्ट कैसे दें।

इनका कहना है....
- ग्रामीणों के विरोध-प्रदर्शन के बाद मौके पर पहुंचने पर प्राप्त ज्ञापन उच्च अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के लिए भेज दिया गया है।
मीना बंसन, सीबीईओ

- मामले की जानकारी मिली है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी। यदि ऐसा हुआ है तो गलत है। जांच के बाद कार्रवाई करेंगे।
गोविन्द सिंह डोटासरा, शिक्षा मंत्री