स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर-अजमेर राजमार्ग पर बस में आग, यात्री जिंदा जला

Narottam Sharma

Publish: Oct 21, 2019 08:15 AM | Updated: Oct 21, 2019 00:23 AM

Bagru

Jaipur Road Accident - 45 यात्री बस में थे सवार
- 3.30 बजे रविवार तड़के हुआ हादसा
- 01 घंटे की मशक्कत के बाद बुझाई आग
- 09 बजे पता लगा यात्री के जिंदा जलने का
- ब्यावर से दिल्ली जा रही थी स्लीपर कोच

Bus fire on Jaipur-Ajmer highway : - दूदू. जयपुर-अजमेर राजमार्ग पर रविवार तड़के 3.30 बजे स्लीपर कोच बस में आग लग गई। इससे बस में सवार एक यात्री जिंदा जल passenger burnt alive गया। संभवत: नींद नहीं खुलने से यात्री आग की लपटों में घिर गया और मौत हो गई। जबकि 45 यात्रियों ने कूद कर जान बचाई। मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी है। बस में आग लगने का कारण प्रथमदृष्टया इंजन में शार्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार शिव शंकर ट्रेवल्स की स्लीपर कोच बस ब्यावर से दिल्ली जा रही थी। इस दौरान गाडोता व मौखमपुरा के बीच बम्भोरिया की ढाणी के पास चालक ने इंजन में धुआं देखा। उसने बस को थोड़ी दूर पर ही रोक दी और आग की लपटें देख शोर मचाते हुए यात्रियों से फटाफट बस से उतरने को कहा। सभी यात्री सोए हुए थे। चालक के शोर मचाने पर हड़बड़ाहट में यात्री सामान बस में छोड़कर नीचे उतर गए। इसके बाद चंद मिनटों में ही बस में आग चारों तरफ फैल गई और देखते-देखते ही बस आग का गोला बन गई। साथ ही उसमें रखा यात्रियों का सामान भी पूरी तरह से जल गया।

एक घंटे तक यातायात रहा बाधित
पुलिस तथा जीवीके व जयपुर नगर निगम से आई दमकलों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इस दौरान राजमार्ग पर एक घंटे तक यातायात बाधित रहा। पुलिस ने शव को सवाईमानसिंह अस्पताल, जयपुर की मोर्चरी में रखवा दिया है।

मरने वाले का साढ़े पांच घंटे बाद पता चला
बस में आग पर काबू पाने के बाद पुलिस के साथ जीवीके कार्मिकों ने मोबाइल की लाइटों व टार्च से बस में देखा कि कहीं कोई यात्री तो इसमें नहीं रह गया है, लेकिन अंधेरा होने की वजह से चेसिस पर पड़ा शव उन्हें दिखाई नहीं दिया। बाद में प्रात: करीब नौ बजे बस में अज्ञात यात्री का शव मिला तो पुलिस ने कब्जे में लिया।

इनका कहना है....

हादसे में एक यात्री की जलने से मौत हो गई। आग का शिकार यात्री संभवतया नींद में था और ऊपर की बर्थ पर सोया हुआ था। आग लगने के कारण लपटों में घिर गया और उसकी मौत हो गई।
- जयप्रकाश बेनीवाल, थाना प्रभारी दूदू