स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धन उगाही के चक्कर में गयी प्रसूता की जान, बचने के लिये डेडबॉडी को जिंदा बताकर कर दिया रेफर, परिजनों ने किया हंगामा

Mohd Rafatuddin Faridi

Publish: Aug 18, 2019 13:04 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:04 PM

Azamgarh

सड़क पर शव रख परिजनों ने लगाया जाम, चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग।

आजमगढ़. डॉक्टरों के अंदर बढ़ी रुपयों की लालच ने रविवार को एक प्रसूता की जान ले ली। यही नहीं परिजनों का आरोप है कि प्रसूता की मौत के बाद बचने के लिये अस्प्ताल ने डेडबॉडी को जिंदा बताकर रेफर कर दिया, लेकिन आजमगढ़ ले जाने पर राज खुल गया। डॉक्टर की लापरवाही से नाराज परिजन और ग्रामीणों वापस लौटे और नर्सिंग होम पर जमकर हंगामा किया। शव नर्सिंग होम के सामने रखकर परिजनों ने जाम लगा दिया और आरोपी डॉक्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की जा रही है। मौके पर पहुंची पुलिस लोगों को समझाने में जुटी है, लेकिन परिजनों का कहना है कि वह आरोपी डॉक्टर की गिरफ्तारी के बाद ही अपना जाम समाप्त करेंगे।

 

Maternal Death
मौत के बाद अस्पताल पर हंगामा IMAGE CREDIT:

 

तरवां थाना क्षेत्र के गतवा गांव निवासी मंसा देवी 32 पत्नी नंदलाल ने शुक्रवार की रात बच्चे को जन्म दिया था। खून की कमी के कारण शनिवार की भोर में परिवार के लोगों ने उसे खरिहानी बाजार स्थित अथर्व नर्सिंग होम में भर्ती कराया। परिजनों का आरोप है कि यहां चिकित्सक डा. महेंद्र चैहान ने खून चढ़ाने के नाम पर उनसे 12 हजार रूपये लिया लेकिन केवल एक युनिट ब्लड मंगाया।


वह ब्लड भी महिला को सही ढंग से नहीं चढ़ाया गया जिसके कारण उसकी हालत गंभीर हो गयी। रविवार की भोर में महिला ने सही उपचार न मिलने के कारण दम तोड़ दिया। जब महिला की मौत की जानकारी चिकित्सक को हुई तो उसने रेफर लिख दिया और आजमगढ़ दिखाने को कहा। जब परिजनों ने विरोध किया तो उसने महिला को जिंदा बताया। परिजनों को लगा शायद चिकित्सक सही कह रहा हो इसलिए लोग उसे आजमगढ़ ले आए जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।


इसके बाद परिवार के लोग शव लेकर फिर नर्सिंग होम पहुंचे। इसी बीच गांव के भी सैकड़ों लोग मौके पर पहुंच गये और शव को अस्पताल के सामने रखकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। घटना की जानकारी होने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी और लोगों को समझा बुझाकर शांत कराने का प्रयास किया लेकिन लोग चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की जिद पर अड़े हुए है। जाम से क्षेत्र में लोग परेशान हैं। वहीं चिकित्सक मौका देख गायब हो गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि धन कमाने के चक्कर में उक्त चिकित्सक हमेशा से मरीजों के जीवन से खेलता रहता है।

By Ran Vijay Singh