स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कालेज में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ शिक्षकों ने दिया धरना

Devesh Singh

Publish: Aug 16, 2019 21:08 PM | Updated: Aug 16, 2019 21:08 PM

Azamgarh

कालेज में फैले भ्रष्टाचार व दुर्व्यवस्था से नाराज श्री दुर्गा जी स्नातकोत्तर महाविद्यालय चंडेश्वर के शिक्षकों ने शुक्रवार को डा प्रवेश सिंह की अध्यक्षता में धरना दिया। इस दौरान प्रार्चाय और प्राक्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी।

रिपोर्ट:-रणविजय सिंह

आजमगढ़। कालेज में फैले भ्रष्टाचार व दुर्व्यवस्था से नाराज श्री दुर्गा जी स्नातकोत्तर महाविद्यालय चंडेश्वर के शिक्षकों ने शुक्रवार को डा प्रवेश सिंह की अध्यक्षता में धरना दिया। इस दौरान प्रार्चाय और प्राक्टर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी। शिक्षकों ने कालेज प्रशासन को ज्ञापन सौंप तत्काल कार्रवाई की मांग की।
वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के प्रदेश प्रांतीय प्रतिनिधि एसजेड अल्ली उर्फ जिम्मी ने कहा कि हमने विवि के पदाधिकारियों एवं आजमगढ, मऊ, जौनपुर व गाजीपुर के सभी जिला इकाई के अध्यक्ष एवं मत्री से सहयोग का आश्वासन दिया है। वीर बहादुर सिंह पूर्व विश्वविद्यालय जौनपुर के संयुक्त मंत्री डा. राजीव त्रिपाठी ने कहा कि इस स्वेच्छाचारी प्राचार्य के हटने तक आंदोलन अनवरत चलता रहेगा।
पूर्व प्राचार्य एवं संघ के संरक्षक डा. फूलचन्द्र सिंह ने कहा कि यह धरना प्रदर्शन अंजाम तक पहुंच कर रही समाप्त होगा। पूर्व प्राचार्य डा मधुबाला ने कहा कि महाविद्यालय प्रशासन जब तक लिखित आश्वासन नहीं देखा तब तक धरना जारी रहेगा। धरना प्रदर्शन के दौरान ही डीएम आजमगढ़/प्राधिकृत नियंत्रक के प्रतिनिधि के रूप में अपर जिलाधिकारी वित्त/प्रभारी एवं उपजिलाधिकारी सदर आजमगढ़ धरना स्थल पर पुलिस फोर्स के साथ पहुंचकर धरना समाप्त करने की अपील किये।

अधिकारीद्वय ने उक्त 20 सूत्री मांग के अवलोकनपरांत शिक्षकों की मांगां को जायज मानते हुए शीध्रातिशीध्र पूर्ण करने का आश्वासन दिया। इसका शिक्षकों ने पूरजोर विरोध करते हुए मानदेय शिक्षकों का आमेलन एव नियुक्ति पत्र समयबद्ध जारी करने का अनुरोध किया तो उन्होंने एक सप्ताह के अंदर समस्त प्रकरण निस्तारित करने का आश्वासन दिया। जिस पर शिक्षकों ने बिना लिखित आश्वासन के काम करने से इनकार कर दिया। इस मौके पर डा वीरेन्द्र कुमार दुबे, डा राजेश, डा विष्णु, डा रामजी, सुनील, डा नीलेश, डा विकास, डा अशोक, डा आरपी कौशल, मुकुल दत्त पांडेय, हर्ष गौतम, सर्वेश, डा शफकत अलाउद्दीन आदि मौजूद रहे।