स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

वाह रे यूपी पुलिस! उच्चाधिकारी जब हुए गंभीर तब दर्ज किया फायरिंग व लूट के प्रयास का मुकदमा

Ashish Kumar Shukla

Publish: Nov 17, 2019 17:38 PM | Updated: Nov 17, 2019 17:38 PM

Azamgarh

रोडवेज बस में लुटेरों की गोली से घायल महिला का मामला, बस परिचालक की तहरीर के बाद भी अनभिज्ञता जाहिर करती रही फूलपुर पुलिस

आजमगढ़. फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के पालियामाफी गांव के पास शुक्रवार की रात रोडवेज बस में बदमाशों की गोली से महिला के घायल होने की घटना को स्थानीय पुलिस जौनपुर जिले की घटना साबित करने में लगी रही। अधिकारियों की सख्ती के बाद शनिवार को फूलपुर कोतवाली में मामला दर्ज किया गया।

शुक्रवार की रात हुई घटना के बाद बस के परिचालक भारत सिंह द्वारा फूलपुर कोतवाली में सूचना दी गई थी। इसके बावजूद दूसरे दिन दोपहर तक कोतवाली प्रभारी मीडिया से घटना को छिपाते रहे। अधिकारियों की सख्ती के बाद पुलिस इतनी सक्रिय हुई कि लगेहाथ एक आरोपी की शिनाख्त भी कर ली गई।

तीसरे दिन भी पुलिस घटना को अंजाम देने वाले आरोपितों का पकड़ने में कामयाब नहीं हो सकी है। पुलिस की इसी तरह की कार्यप्रणाली से क्षेत्र में अपराधियों, खनन माफियाओं , पशु तस्करों, शराब माफिया सहित वनमाफियों के हौसले बुलंद हैं। क्षेत्र में लगातार अवैध खनन, पेड़ों की कटान, अवैध शराब की बिक्री की जा रही है। अवैध शराब की बिक्री इस कदर हावी है कि पुलिस केवल कोरम पूरा करने के लिए 20-25 शीशी शराब की बरामदगी दिखाकर एक- दो लोगों को जेल भेज अपना कोरम पूरा कर लेती है।

[MORE_ADVERTISE1]