स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

युवती के साथ मंदिर में की शादी, प्रेंग्नेट हुई तो कराया अबॉर्शन, साथ रखने को कहा तो...

Akhilesh Kumar Tripathi

Publish: Nov 18, 2019 21:51 PM | Updated: Nov 18, 2019 21:51 PM

Azamgarh

मां के साथ डीएम से मिलकर पीड़िता ने लगाई न्याय की गुहार

 

 

 

आजमगढ़. भगवान के सामने सात फेरे लेकर साथ जीने मरने की कसम खाने वाला युवक डेढ़ साल बाद ही पत्नी को भूल गया। अब युवक पत्नी को पहचानने से भी इनकार कर रहा है। जबकि युवती के पास शादी के दर्जनों प्रमाण पत्र मौजूद है। युवती का दावा युवक ने उसे बहला फुसलाकर शादी की और डेढ़ साल तक उससे शारीरिक संबंध बनाता रहा। जब वह प्रेग्नेंट हो गयी तो मामी के माध्यम से दवा खिलाकर एवार्सन करा दिया। अब युवक का दारोगा नाना युवती को तरह तरह से धमकी दे रहा है, उसके दबाव में पुलिस भी कार्रवाई के लिए तैयार नहीं है। मजबूर पीड़ित ने सोमवार को जिलाधिकारी से मुलाकात कर न्याय की गुहार लगाई।

पीड़ित युवती का आरोप है कि शहर कोतवाली क्षेत्र के लछिरामपुर निवासी प्रिंस पुत्र कैलाश का उसके गांव में ननिहाल है। वह अपने नाना के घर अक्सर आता जाता था। वहीं उसने उसे बहला फुसलाकर 2017 में मंदिर ले जाकर शादी कर लिया। इस दौरान उसकी मौसी भी नाराज रही। इसके बाद उसने कहा कि कुछ पैसा कमा लेने दो फिर तुम्हे घर ले जाएंगे। इसके बाद वह जब भी अपने मामा के घर आता उसके साथ संबंध बनाता था। पिछले दिनों जब वह प्रेग्नेंट हो गयी, जब उसने यह बात उसने प्रिंस ने बतायी तो उसने अभी बच्चे की जरूरत न होने की बात कहते हुए अपनी मामी की मदद से उसे दवा खिला दिया। जिससे उसका अबॉर्शन हो गया।


युवती का कहना है कि पिछले दिनों जब उसके व्यवहार में बदलाव आने लगा तो वह अपनी मां के साथ जाकर प्रिंस के मामा व मासी से मिली, लेकिन उन लोगों ने दूसरी शादी करने का दबाव बनाने लगे। फिर वह प्रिंस के परिवार व उसकी मौसी से मिली। उन लोगों ने तो उसे पहचानने से भी इनकार कर दिया। प्रिंस के नाना जो दरोगा है उसे धमकी देना शुरू कर दिया। प्रिंस के नाना उस पर दूसरी शादी करने व किसी तरह की शिकायत न करने का दबाव बना रहे है। उन्हीं के दबाव में कोतवाली पुलिस शिकायत भी नहीं दर्ज कर पा रही है। जिलाधिकारी की तरफ से कार्रवाई का आश्वासन देने पर पीड़िता वापस लौटी।

BY- RANVIJAY SINGH

[MORE_ADVERTISE1]