स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब थानोें में बैठ विवाद सुलझाएंगे सीओ और एसडीएम

Ashish Kumar Shukla

Publish: Sep 18, 2019 17:20 PM | Updated: Sep 18, 2019 17:20 PM

Azamgarh

बैठक में डीएम एसपी ने दिया निर्देश

आजमगढ. कानून व्यवस्था, भूमि विवाद एवं प्रवर्तन कार्य तथा आगामी त्यौहारों पर शांन्ति व्यवस्था, सफाई, विद्युत आदि को सुदृढ़ बनाने के लिए अधिकारियों की बैठक बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। इसमें संबंधित अधिकारियों को व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने का निर्देश दिया गया।

पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह ने कहा कि प्रत्येक थाने में विवाद रजिस्टर बनाया गया है तथा लेखपालों द्वारा भी ग्रामवार विवाद रजिस्टर तैयार किया जा चुका है। इसलिए एसडीएम तथा क्षेत्राधिकारी प्रत्येक थानों पर जाकर विवाद रजिस्टर में दर्ज समस्याओं का त्वरित गुणवत्तापरक निस्तारण करना सुनिश्चित करें। विवादों को निस्तारित करने के लिए कार्ययोजना तैयार करे।

जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह ने सीओ व एसएचओ को निर्देशित करते हुए कहा कि सोशल डायनेमिक परिवर्तन हो रहा है, उसके आधार पर शांति समितियों का पुनर्गठन करना सुनिश्चित करें। शांति समितियों में युवा वर्ग तथा महिलाओं को भी शामिल करें, किसी भी दशा में शांति समिति में आपराधिक छवि का सदस्य नही होना चाहिए। प्रत्येक ग्रामों में ग्राम सुरक्षा समिति भी संचालित है। उन्होने एसएचओ को निर्देश दिये कि प्रत्येक ग्रामों में ग्राम सुरक्षा समिति की बैठक करें।

नवरात्र, दशहरा पर शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए एसडीएम तथा सीओ को निर्देश दिया कि दुर्गा पण्डाल समिति के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करें तथा उन्हंे पण्डाल तथा डीजे से संबंधित नियमों की भी जानकारी दें। उन्होने अधीक्षण अभियन्ता विद्युत को निर्देश दिये कि जहाॅ-जहाॅ दुर्गा पण्डाल लगाये जाते हैं, वहाॅ पर जो नंगे तार या ट्रांसफार्मर खराब हैं, उसे ठीक करायें, तथा जहाॅ-जहाॅ पण्डाल लगाये जाने हैं, उसकी सूची संबंधित एसडीएम से प्राप्त कर लें।

उन्होने समस्त ईओ नगर पालिका व नगर पंचायतों को निर्देश दिये कि आगामी त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए साफ-सफाई युद्ध स्तर पर कराना सुनिश्चित करें तथा कहीं भी वाॅटर सप्लाई की समस्या नही होनी चाहिए।

पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने समस्त सीओ व एसएचओ को निर्देश दिये कि पीस कमेटी में अच्छी छवि वाले व्यक्तियों को ही रखें तथा इसमें प्रत्येक वर्ग के लोगों को भी शामिल करें। उन्होने सीएम पोर्टल पर लम्बित संदर्भाें के संबंध में कहा कि प्रकरणों का निस्तारण सब इंस्पेक्टर रैंक से नीचे के अधिकारी निस्तारण न करें, प्रकरणों का स्वयं जाॅच करें और प्रकरणों का गुणवत्तापरक निस्तारण करें। इसी के साथ ही उन्होने यह भी निर्देश दिया कि भूमि विवादों को गम्भीरता से लें, इस तरह के विवादों का निस्तारण एसडीएम से समन्वय स्थापित कर गुणवत्तायुक्त निस्तारण करें।