स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बसपा के दलित वोट बैंक पर बीजेपी की नजर, ऐसी देगी झटका

Sarweshwari Mishra

Publish: Nov 17, 2019 13:23 PM | Updated: Nov 17, 2019 13:23 PM

Azamgarh

अनुसूचित मोर्चा के जरिए तैयार किया बड़ा प्लान

आजमगढ़. विधानसभा उप चुनाव मंे बसपा का सूपड़ा साफ करने व उसकी पार्टी के कई नेताओं को अपने पाले में लाने के बाद बीजेपी की नजर अब बसपा के दलित वोट बैंक पर है। पार्टी संविधान दिवस के जरिए अब दलितों के दिल में उतरने की कोशिश करेगी। इसके लिए पूरा प्लान तैयार किया गया है और जिम्मेदारी पार्टी के अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ को सौंपी गयी है। अनुसूचित जाति मोर्चा दलितों के साधने की तैयारी में जुटा है।


संविधान दिवस 26 नवंबर को पार्टी विशेष कार्यक्रम का आयोजन करेंगे। अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष सुक्खू राम भारती ने बताया कि भारतीय संविधान पूरे विश्व में खास स्थान रखता है। जिसके निर्माता डा. भीमराव अम्बेडकर ने 26 नवंबर 1949 को सौंपा था। इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिए भाजपा शीर्ष नेतृत्व ने आगामी 28 नवंबर को मोर्चा के संयोजकत्व में बाबा साहब डा. भीमराव अंम्बेडकर के सम्मान में संविधान दिवस मनाने का निर्णय लिया है।


संविधान दिवस को सफल बनाने के लिए जिलाध्यक्ष सुक्खू राम भारती द्वारा पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। शीध्र ही कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर मोर्चा पदाधिकारियों द्वारा निर्णय लिया जायेगा।


अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश महामंत्री शेषनाथ आचार्य ने बताया कि संविधान शिल्पी का सम्मान आज तक कभी किसी ने नहीं किया जबकि बहुत सी पार्टियां डा अम्बेडकर के नाम पर अपनी रोटी सेंकती है लेकिन जब सम्मान की बात आती है वे मुकर जाती है। भाजपा की संविधान में पूर्ण निष्ठा है इसीलिए डा अम्बेडकर के सम्मान में पांच महत्वपूर्ण स्थानों को पंचतीर्थ के नाम पर विकसित कर इनके विचारों को मजबूत करने का काम किया है।

[MORE_ADVERTISE1]