स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योगी सरकार ने दिया बड़ा झटका, इन 10.25 लाख लोगों को नहीं मिलेगा केरोसिन

Sarweshwari Mishra

Publish: Oct 20, 2019 13:32 PM | Updated: Oct 20, 2019 13:32 PM

Azamgarh

सरकार मानती है जिनके पास है विद्युत व एलपीजी का कनेक्शन वे नहीं करते केरोसिन का उपयोग

आजमगढ़. योगी सरकार ने जिले के 10.25 लाख लोगों को बड़ा झटका दिया है। एक सर्वे के बाद सरकार इस नतीजे पर पहुंची है कि जिनके पास विद्युत व बिजली का कनेक्शन है वे केरोसिन का उपयोग नहीं करते है। इसलिए सरकार ने ऐसे लोगों को केरोसिन नहीं देने का फैसला किया है। अब केरोसिन उन्हीं परिवारों को मिलेगा जिनके पास बिजली व गैस कनेक्शन नहीं है। अक्टूबर माह से इसे लागू भी कर दिया गया है।


बता दें कि जिले की आबादी 50 लाख से अधिक है। यहां कुल छह लाख विद्युत उपभोक्ता है जिसमें करीब पचास प्रतिशत यानी 3 लाख उपभोक्ता ग्रामीण क्षेत्र में रहते है। वहीं 4.25 लाख लोगों के पास एलपीजी कनेक्शन है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अंतर्गत पात्र गृहस्थी एवं अन्त्योदय कार्ड धारक परिवारों को दो श्रेणी में रखा गया है। इसमें पात्र गृहस्थी राशन कार्ड धारक को एक लीटर प्रति राशन कार्ड व अन्त्योदय राशन कार्ड धारकों को तीन लीटर प्रति राशन कार्ड केरोसिन दिया जाता था। सितंबर माह में भी इसी आधार पर वितरण किया गया। अब अक्टूबर माह से नई व्यवस्था लागू कर दी गयी है। इसके तहत ऐसे कार्ड धारक जिनके पास गैस कनेक्शन व बिजली कनेक्शन है उन्हें केरोसिन आयल नहीं दिया जाएगा।


एलपीजी प्रभारी राजेश कुमार के मुताबिक शासन द्वारा बीते दिनों जनपद के एलपीजी गैस एवं विद्युत कनेक्शन लेने वाले कार्ड धारकों का सर्वे कराया गया था। सर्वे के अनुसार उक्त दोनों सुविधाओं वाले उपभोक्ता केरोसिन का प्रयोग करते नहीं पाए गए। अगर कुछ पाए भी गए तो वह नाम मात्र दिखे। रिपोर्ट को शासन ने संज्ञान लिया और केरोसिन के आवंटन को कम कर दिया है। जिला पूर्ति अधिकारी देवमणि मिश्रा का कहना है कि शासन से अक्टूबर माह से बिजली व एलपीजी उपभोक्ताओं को केरासिन नहीं देने का निर्देश दिया गया है। शासन के निर्देशानुसार वितरण किया जा रहा है।