स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, प्रदेश के इन शिक्षकों को किया बर्खास्त

Akansha Singh

Publish: Oct 01, 2019 11:37 AM | Updated: Oct 01, 2019 11:37 AM

Auraiya

एसआइटी की जांच के बाद 51 शिक्षक बर्खास्त

औरैया. प्रदेश में 51 शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया है। बेसिक शिक्षा विभाग ने एसआइटी की जांच के बाद ये कार्रवाई की गई है। इनमें सात शिक्षक औरैया और 44 शिक्षक अन्य जनपदों में तैनात हैं। इन जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारी को पत्र भेजकर प्रकरण की जानकारी देते हुए कार्रवाई अमल में लाने को कहा गया है। इन सभी शिक्षकों को अंतरजनपदीय तबादला योजना के तहत जिलों में तैनाती मिली है। बीएड का फर्जी अंकपत्र लगाकर नौकरी पाने वाले शिक्षकों के मामले में अपर पुलिस महानिदेशक विशेष अनुसंधान दल ने 13 सितंबर 2017 को सुनीकार्रवाई का शिकार ल कुमार बनाम डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के मामले में उच्च न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया था। इसकी विवेचना में बताया गया था कि बीएड सत्र 2005 के कई छात्रों ने अपनी अंक तालिका में फेरबदल कर अधिक अंक दिखाए हैैं और शिक्षक पद पर नियुक्ति पा ली है। यह जांच प्रदेश के सभी 75 जिलों में कराई गई थी।

एसआइटी ने चिह्नित किए थे 51 शिक्षक

एसआइटी की जांच में जिले में ऐसी डिग्री लगाकर नियुक्ति पाने वाले 51 शिक्षक चिह्नित किए गए थे। इन सभी शिक्षकों ने औरैया में ही काउंसिङ्क्षलग कराकर नियुक्ति पाई थी। इसमें 44 शिक्षक प्रदेश के अन्य जिलों में तैनात हैं। जिले में एडीएम, एएसपी व बीएसए की तीन सदस्यीय कमेटी गठित की गई। 51 शिक्षकों की डिग्री फर्जी मिलने पर जिलाधिकारी अभिषेक सिंह को रिपोर्ट दी गई। उनकी संस्तुति पर बीएसए ने प्रदेश के दूसरे जिलों में तैनात 44 शिक्षकों की बर्खास्तगी संबंधित नोटिस उनके संबंधित बीएसए को भेज दिया है।