स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घुटनों के बल आया परमाणु युद्ध की धमकी देने वाला PAK, कहा- बातचीत से हो कश्मीर मुद्दे का समाधान

Anil Kumar

Publish: Sep 09, 2019 08:22 AM | Updated: Sep 09, 2019 15:24 PM

Asia

  • चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने पाकिस्तानी समकक्ष से की मुलाकात
  • पाकिस्तान और चीन ने बातचीत के जरिए कश्मीर मामले के समाधान पर दिया जोर

इस्लामाबाद। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद बौखलाए पाकिस्तानी हुकमरान दुनियाभर में भारत के खिलाफ आरोप लगाते हुए मानवाधिकार हनन का मुद्दा उठाने की कोशिश की, लेकिन हर मंच पर मुंह की खाने के बाद अब लगता है कि अक्ल ठिकाने पर आ गया है।

बात-बात पर परमाणु युद्ध की धमकी देने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनके मंत्रियों को यह बात समझ में आ गई है कि दुनिया का कोई भी देश उनका साथ देगा। लिहाजा अब शांति की बात करने लगे हैं। पाकिस्तानी हुकमरान अब कश्मीर मुद्दे को बातचीत के जरिए सुलझाने की बात कर रहे हैं।

पाकिस्तान: चीन पर मेहरबान हुए इमरान खान, 2 हजार चीनी नागरिकों का वीजा फीस करेगा माफ

पाकिस्तान ने रविवार को जम्मू-कश्मीर मसले पर चीन के साथ बातचीत की। चर्चा के दौरान दोनों देशों ने बातचीत के जरिए समानता के आधार पर मुद्दे के समाधान पर जोर दिया। चीन ने पाकिस्तान को किसी भी समय उसकी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा में समर्थन देने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

shah-mehmood-qureshi.jpg

दो दिनों के दौरे पर पाकिस्तान पहुंचे थे चीनी विदेश मंत्री

बता दें कि चीनी विदेश मंत्री वांग यी दो दिनों के दौरे पर इस्लामाबाद पहुंचे थे। वांग यी चीन, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच होने वाले त्रिपक्षीय बैठक में हिस्सा लिया।

वांग की यात्रा के समापन पर जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है कि किसी भी स्थिति में उनके रणनीतिक संबंध किसी भी क्षेत्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्थिति से प्रभावित नहीं होंगे।

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने LOC का किया दौरा, सीमा पर हालात का जायजा लिया

बैठक में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बातचीत के दौरान चीन से जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर खुलकर चर्चा की।

इस बीच पाकिस्तान ने चीन के समक्ष जम्मू-कश्मीर को लेकर अपनी चिंताओं से अवगत कराया। चीन ने कहा कि वह कश्मीर की मौजूदा स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.