स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इराक में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने बरसाई गोलियां, 31 की मौत

Mazkoor Alam

Publish: Oct 04, 2019 22:29 PM | Updated: Oct 04, 2019 22:31 PM

Asia

बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विरोधी दल समेत प्रदर्शनकारी राजधानी और राज्य के अन्य इलाकों में सड़कों पर उतर आए हैं।

बगदाद : इराक की राजधानी बगदाद में बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के विरोध में प्रदर्शन कर रहे युवकों पर सुरक्षाकर्मियों की ओर से की गई कार्रवाई में अब तक दो सुरक्षाकर्मी समेत 31 लोगों की मौत हो गई। इस प्रदर्शन में 400 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी समेत 1500 से ज्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है।

बेरोजगारी के विरोध में कर रहे थे प्रदर्शन

इराक के लोग देश में बढ़ती बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के विरोध में पिछले एक हफ्ते से राजधानी समेत राज्य के अन्य इलाकों में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को उनका यह विरोध हिंसक हो गया। इसके जवाब में सुरक्षा बलों ने सीधे उन पर गोली चला दी। इस गोली-बारी में खबर लिखने तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है, जबकि 1,500 से अधिक घायल हो गए हैं। यह संख्या बढ़ भी सकती है।

दो सुरक्षाकर्मियों की भी मौत

एक टीवी चैनल के मुताबिक, इराकी इंडिपेंडेंट हाई कमीशन फॉर ह्यूमन राइट्स' (IHCHR) के एक सदस्य ने जानकारी दी कि बगदाद और देश के कुछ अन्य प्रांतों में पिछले तीन दिनों के भीतर विरोध प्रदर्शनों में तकरीबन 31 लोग मारे गए हैं। मारे जाने वालों में दो सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं। जबकि 1,509 लोग घायल हैं। इन घायलों में 401 सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं।

 

बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के खिलाफ कर रहे थे प्रदर्शन

इस साल की शुरुआत से इराक की अर्थव्यवस्था की हालत बेहद खराब हो गई है। देश में बेरोजगारी भी चरम पर पहुंच गई है। भ्रष्टाचार का भी बोलबाला है। इस कारण विपक्षी दल, कई मानवाधिकार संगठन समेत आम लोग सड़कों पर उतर आए हैं। यह प्रदर्शन बगदाद में तब हिंसक हो गया, जब प्रदर्शनकारी और पुलिस आपस में भिड़ गए। विरोध प्रदर्शन की आंच अब अन्य इराकी इलाके में भी फैल रही है। प्रदर्शनकारियों की भीड़ अब देश के राज्यों की सरकारी भवनों को भी घेरे हैं। वह सत्तसीन राजनीतिक दलों के कार्यालयों को भी निशाना बना रहे हैं।

सरकार ने बंद की इंटरनेट सेवा

रक्षा मंत्री नजह अल शम्मारी ने इराकी सशस्त्र बलों को अलर्ट रहने को कहा है। इसके अलावा इराकी प्रधानमंत्री आदिल अब्दुल मेहदी ने कहा है कि सरकार प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है। कई इलाकों में इंटरनेट की सुविधा भी काट दी गई है।