स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

heavy rain today news : MP में भारी बारिश के कारण बांध के 16 गेट खोले,यूपी-एमपी को जोडऩे वाला पुल डूबा, रास्ता बंद, देखें वीडियो

Arvind jain

Publish: Aug 15, 2019 10:35 AM | Updated: Aug 15, 2019 10:35 AM

Ashoknagar


बारिश: जिले में 24 घंटे में हुई एक इंच बारिश, तो फिर उफान पर आई सभी छोटी-बड़ी नदियां।
- बेतवा नदी में आए उफान से राजघाट बांध के 16 गेटों से हर सेकेंड बाहर निकाला जा रहा है 6 9.8 0 लाख लीटर पानी।
- राजघाट पुल डूबने से सुबह आठ बजे से दिनभर बंद रही यूपी-एमपी के बीच आवाजाही, दोनों तरफ लगी वाहनों की लंबी कतार।

अशोकनगर। चार दिन रुकने के बाद जिले में मंगलवार सुबह चार बजे से शुरु हुई बारिश heavy rain दूसरे दिन भी जारी रही। पिछले 24 घंटे में जिले में एक इंच बारिश हुई, इससे सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर आ गईं। राजघाट बांध Rajghat dam in ashoknagar के 18 में से 16 गेट gates खोलना पड़े और गेटों से हर सेकेंड 6 9.8 0 लाख लीटर पानी बाहर छोड़ा जा रहा है। इससे यूपी-एमपी UP-MP के बीच बना पुल डूब bridge गया और पुल के आठ फिट ऊपर से पानी बह रहा है। इससे दोनों प्रदेशों के बीच आवाजाही बंद हो गई और दोनों तरफ दिनभर वाहनों की लंबी कतार लगी रही।

 

 

राजघाट बांध के गेट खोलना पड़े
बेतवा नदी के अचानक उफान पर आने से मंगलवार-बुधवार रात साढ़े तीन बजे फिर से राजघाट बांध के गेट खोलना पड़े। बांध 10 गेट 3.5-3.5 मीटर और छह गेट डेढ़-डेढ़ मीटर खोले गए हैं, दोपहर साढ़े 12 बजे से बांध से दो लाख 46 हजार 520 क्यूसेक (यानी 6 9 लाख 8 0 हजार 706 लीटर प्रति सेकेंड) पानी बाहर निकाला जा रहा है।

यूपी-एमपी को जोडऩे वाला पुल डूब गया

सबसे पहले रात साढ़े तीन बजे बांध के 10 गेट खोले गए थे और 92 हजार क्यूसेक पानी बाहर छोड़ा गया, लेेकिन नदी का बहाव और तेज होने से सुबह छह बजे बांध के 10 गेटों से 1.73 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। सुबह आठ बजे 14 गेट खुलते ही यूपी-एमपी को जोडऩे वाला पुल डूब गया। वहीं दोपहर साढ़े 12 बजे बहाव और तेज होने से बांध के 16 गेट खोले गए।

 

 

लगातार 12 घंटे से डूबा हुआ है पुल, रास्ता बंद
दोनों प्रदेशों के बीच बना राजघाट पुल सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक पूरी तरह से डूबा रहा। इससे दोनों ही तरफ वाहनों की लंबी लाइनें लगी रहीं और आवाजाही बंद है। वहीं बेतवा में बहाव तेज होने की वजह से देर रात तक इसी तरह से पुल डूबे रहने की संभावना है।


पानी की मात्रा और बढ़ा दी जाएगी
बेतवा रिवर बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि यदि रात के समय बेतवा नदी में बहाव और तेज हुआ तो गेटों से बाहर निकाले जा रहे पानी की मात्रा और बढ़ा दी जाएगी। अधिकारियों का कहना है कि यदि बेतवा नदी का बांध में इनलो यदि साढ़े तीन लाख क्यूसेक हुआ तो शेष दोनों गेटों को भी खोलना पड़ सकता है। हालांकि यह दोनों गेट पिछले वर्षों में अब तक कभी नहीं खोले गए हैं।

अभी 91 फीसदी ही भरा है बांध-
371 मीटर भराव क्षमता वाले राजघाट बांध का जलस्तर 370 मीटर हो चुका है। बांध में 77.6 6 टीएमसी पानी एकत्रित होता है, जिसमें से अब तक 70.6 0 टीएमसी पानी बांध में आ चुका है। इससे बांध 91 प्रतिशत भर चुका है और अभी 9 फीसदी खाली है, लेकिन अधिकारियों का कहना है कि इस खाली हिस्से को 15 अगस्त के बाद भरा जाएगा।

 

जिले में हुई बारिश पर एक नजर-
ब्लॉक 14 अगस्त अब तक सामान्य से तुलना
अशोकनगर 30 717 8 4.35 प्रतिशत
चंदेरी 10 6 34 6 3.40 प्रतिशत
ईसागढ़ 20 479 54.56 प्रतिशत
मुंगावली 39 6 49 8 1.13 प्रतिशत
जिला 24.75 6 20 70.27 प्रतिशत
(बारिश के आंकड़े मिमी में।)

अभी भी जिले के चार तालाबों में नहीं एक बूंद पानी-
जिले में भले ही औसत की तुलना में अब तक 70 फीसदी बारिश हो चुकी है और नदियां उफान पर चल रही हैं। लेकिन जिले में सिचाई विभाग के 33 में से सिर्फ 9 बांध ही पूरे भर सके हैं और चार तालाबों में एक भी बूंद पानी नहीं है।

 

बांध फुल भर चुके हैं
कोचा बांध, बरखेड़ाछज्जू, जलेश्वर, जमाखेड़ी, केशोपुर, मढ़ीकानूनगो, श्यामाटोरी, तुलसी सरोवर और उमरिया बांध फुल भर चुके हैं। वहीं जिले के फतेहाबाद, विक्रमपुर, ईंदौर और बनैट तालाब पूरी तरह से सूखेपड़े हुए हैं। विभाग ने इन 33 तालाबों की भराव क्षमत 97.38 0 एमसीएम (मिलियन क्यूबिक मीटर) है, जिनमें अब तक 6 8 .731 एमसीएम पानी ही एकत्रित हो सका है।


जिले के यह तालाब भी सूखे से
तालाब अब तक भरे
अनिराई 14.71 प्रतिशत
ढ़ाकौनी 23.32 प्रतिशत
कदवाया 11.6 6 प्रतिशत
कुंवरपुर 6 .8 2 प्रतिशत
मुंडेरी 20.18 प्रतिशत
पछाड़ीखेड़ा 23.33 प्रतिशत
पचलाना 12.50 प्रतिशत
रामनगर 8 .11 प्रतिशत
सकर्रा 18 .74 प्रतिशत
सिंहपुर चाल्दा 7.50 प्रतिशत
(जानकारी सिचाई विभाग अनुसार।)