स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डैम के 16 गेट खोलते ही 20 फिट तक डूब गया पुल, मार्ग हुए बंद

Arvind jain

Publish: Sep 11, 2019 12:56 PM | Updated: Sep 11, 2019 12:56 PM

Ashoknagar

बारिश: भोपाल-विदिशा में हुई तेज बारिश से उफान पर बेतवा नदी, चंदेरी में भी हुई तेज बारिश।

- राजघाट बांध के गेटों से हर सेकेंड बाहर निकाल रह 1.02 करोड़ लीटर पानी, जिले में आज भी बारिश का अलर्ट।

अशोकनगर। भोपाल-विदिशा में हुई तेज बारिश rain से बेतवा नदी उफान पर आ गई। उफान भी इतना तेज कि राजघाट बांध rajghat dam के 16 गेट खोलना पड़े। इससे यूपी-एमपी पुल पानी में डूब गया और पुल से करीब 20 फिट ऊपर पानी बहता रहा। इससे जहां ललितपुर मार्ग तो बंद road closed रहा ही, वहीं बेतवा betwa river के उफान से विदिशा और बीना मार्ग भी बंद रहे। इससे रास्ता खुलने के इंतजार में वाहनों की लंबी कतारें लगी रहीं।

 

बेतवा नदी में उफान पर आ गई

जिले में पिछले 24 घंटे में 15.5 मिमी बारिश हुई, वहीं चंदेरी में सोमवार को शाम के समय तेज बारिश हुई। शाम को करीब छह बजे अशोकनगर में भी बारिश हुई। भोपाल-विदिशा में हुई बारिश और भोपाल के कलियासोत बांध के गेट खुलने की वजह से रात से बेतवा नदी में उफान पर आ गई।

 

1.02 करोड लीटर प्रति सेकेंड पानी छोड़ा जा रहा

रात में जहां बांध के छह गेट खुले हुए थे, सुबह चार बजे आठ गेट खोलना पड़े। उफान बढऩे पर सुबह 10 बजे राजघाट बांध के 12 गेट खोले तो यूपी-एमपी के बीच बना पुल डूब गया। सुबह 11 बजे बांध के 16 गेट खोलकर 361648 क्यूसेक (1.02 करोड लीटर प्रति सेकेंड) पानी छोड़ा जा रहा है।

 

बांध से पानी छोडऩा पड़ेगा
इससे सुबह 10 बजे से देर शाम तक यूपी-एमपी पुल से करीब 20 फिट ऊपर पानी बहता रहा और आवाजाही बंद रही। बेतवा रिवर बोर्ड के मुताबिक यदि पानी का बहाव और तेज होता है तो ज्यादा मात्रा में बांध से पानी छोडऩा पड़ेगा।


ललितपुर, बीना और विदिशा मार्ग रहे बंद-
राजघाट बांध के गेट खुलने से जहां सुबह 10 बजे से देर रात तक ललितपुर मार्ग बंद रहा, तो वहीं बेतवा के उफान पर आने की वजह से विदिशा मार्ग बंद रहा। बंगलाचौराहा से विदिशा तक करारिया, काकपुर और बमूरिया में भी पुल के ऊपर पानी बहता रहा। इसके अलावा कंजिया पुल पर भी आवाजाही बंद हो गई, इससे बीना मार्ग भी बंद हो गया। इससे लोग रास्ता खुलने का दिनभर इंतजार करते रहे।


औसत से 15 फीसदी ज्यादा हो चुकी बारिश
जिले में औसत बारिश 882 मिमी है और अब तक 1014 मिमी बारिश हो चुकी है, जो औसत की तुलना में 14.99 फीसदी अधिक है। हालांकि पिछले वर्ष 9 सितंबर तक जिले में 1006 मिमी बारिश हुई थी।


फिर पानी में डूबीं हजारों बीघा की फसलें
जहां ज्यादा बारिश से पहले भी फसलें लंबे समय तक पानी में डूबी रहीं, इससे किसान फसलों में नुकसान की मार झेल रहे थे। लेकिन फिर से हुई तेज बारिश से फसलें फिर से पानी में डूब गई हैं।

वहीं बेतवा नदी के उफान पर आने से भी हजारों बीघा की फसलें पानी में डूब गई हैं और नदी के बहाव के साथ फसलों के उखड़कर बहने की आशंका है। किसानों का कहना है कि अब रही सही फसलों के भी बर्बाद होने की आशंका बनी हुई है।

 

जिले में आज बारिश का यलो अलर्ट
जिले में आज तेज बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग ने जिले में यलो अलर्ट जारी किया है। साथ ही अगले दो-तीन दिन तक मौसम विभाग ने जिले में इसी तरह से तेज बारिश जारी रहने का अनुमान बताया है।


जिले में बारिश पर एक नजर


ब्लॉक अब तक बारिश पिछले वर्ष
अशोकनगर 1091 982
चंदेरी 990 949
ईसागढ़ 916 1273
मुंगावली 1060 822
औसत जिला 1014 1006
(बारिश मिमी में, आंकड़े भू-अभिलेख अनुसार।)


बेतवा नदी में तेज बहाव शुरु होने से राजघाट बांध के 16 गेट खोले गए हैं। बांध से 3.61 लाख क्यूसेक पानी निकाला जा रहा है। इससे यूपी-एमपी के बीच बना पुल डूब गया है। यदि रात के समय बहाव और तेज होता है तो ज्यादा मात्रा में पानी निकालना पड़ेगा।
वीएन शर्मा, एसडीओ बेतवा रिवर बोर्ड राजघाट