स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Bhujaria festival 2019 : मंदिरों में पहुंचकर भगवान को अर्पित की भुजरियां और भुलाए गिले-शिकवे

Arvind jain

Publish: Aug 17, 2019 15:44 PM | Updated: Aug 17, 2019 15:44 PM

Ashoknagar

उत्साह से मना भुजरिया पर्व, देर रात तक चला भुजरिया मिलन का दौर, युवाओं और बच्चों के साथ बुजुर्गों में भी दिखा उत्साह।

अशोकनगर. आपसी बुराईयों को भुलाकर भाईचारे के साथ रहने का संदेश देने वाला भुजरिया bhujaria festival 2019 पर्व शहर सहित जिले में उत्साह के साथ मना। सिर पर भुजरियों से भरी टोकरियां रखकर महिलाएं दोपहर बाद ढ़ोल नगाड़ों के साथ सावन गीत गाते हुए तुलसी सरोवर पहुंची। जहां पर विसर्जित कर भुजरियों को निकाला।

 

इसके बाद लोगों ने मंदिरों पर पहुंचकर भगवान को भुजरियां अर्पित कीं और फिर एक-दूसरे से भुजरियां बदलीं और गले मिले। इससे देर रात तक भुजरिया मिलन का दौर जारी रहा और युवाओं व बच्चों के साथ बुजुर्गों में भी उत्साह दिखा, जो टोलियों के रूप में घर-घर जाकर भुजरियां बदलते दिखे। गांधी पार्क पर भाजपा ने भुजरिया मिलन समारोह का आयोजन किया, जिसमें सांसद डॉ.केपी यादव सहित कई पदाधिकारी शामिल हुए।

 

पहले भगवान को कीं अर्पित, फिर बदलीं भुजरियां-
वहीं पाटखेड़ा गांव में शाम के समय महिलाओं ने नदी पर पहुंचकर भुजरियों को विसर्जित किया और मंदिरों पर पहुंचकर भगवान को भुजरियां अर्पित की और फिर आपस में भुजरियां बदलीं। छोटों ने बड़ों के पैर छुए तो बड़ों ने छोटों को आशीर्वाद दिया। जिलेभर में देर रात तक यह कार्यक्रम चला।