स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

370 किमी पदयात्रा करके करेंगे आचार्यश्री के दर्शन

Arvind jain

Publish: Aug 18, 2019 11:56 AM | Updated: Aug 18, 2019 11:56 AM

Ashoknagar

आज थूबोनजी से रवाना होगी पदयात्रा, श्रीफल भेंटकर आचार्यश्री से करेंगे 2020 का चातुर्मास थूबोनजी में करने का निवेदन।

अशोकनगर। आचार्यश्री के दर्शन करने क्षेत्र के युवा 370 किमी पदयात्रा करके नेमावर पहुंचेंगे। जहां वह श्रीफल भेंटकर सन् 2020 का चातुर्मास थूबोनजी में करने का आचार्यश्री से निवेदन करेंगे। पदयात्रा की सभी तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं और रविवार को थूबोनजी से पदयात्रा शुरु होगी और 12-13 दिन तक पैदल चलने के बाद क्षेत्रवासी नेमावर पहुंचेंगे।
पदयात्रा के आयोजक तरुण जैन बांझल ने बताया कि मुनिश्री प्रशांतसागरजी, मुनिश्री निर्वेगसागरजी और झुल्लकश्री देवानंद सागरजी के आशीर्वाद से यह पदयात्रा शुरु की जा रही है।

 

15 युवा 19 से 25 साल तक की उम्र के हैं
पदयात्रा का रविवार शाम चार बजे अशोकनगर में आगमन होगा। जहां से सोमवार को पदयात्रा रवाना होगी, जो विदिशा, भोपाल, नसरुल्लागंज होते हुए नेमावर पहुंचेंगे। पदयात्रा के लिए थूबोन कमेटी ने एक रथ भी सजाया गया है, वहीं पदयात्रा में शामिल सभी लोग विशेष टीशर्ट पहनकर शामिल होंगे, जिसमें लिखा हुआ है गुरुवर हमको तारो, 2020 में थूबोनजी पधारो। देखत-देखत अंखियां तरस गईं आए नहीं विद्यासागर महाराज भजन को सुनते हुए यह पदयात्रा चलेगी। खास बात यह है कि इस पदयात्रा में करीब 12 से 15 युवा 19 से 25 साल तक की उम्र के हैं।



सौरभ शर्मा भी पैदल चलकर पहुंचेंगे नेमावर-
बीए सेकेंड इयर के छात्र सौरभ शर्मा मडख़ेड़ा भी आचार्यश्री के दर्शन के लिए इस पदयात्रा में शामिल होकर नेमावर पहुंचेंगे। सौरभ ने बताया कि जब आचार्यश्री मुंगावली आए तो दूर से दर्शन तो हो गए लेकिन आशीर्वाद नहीं मिल पाया। चर्चा चली कि आचार्यश्री थूबोनजी आ सकते हैं तो सौरभ शर्मा भी तैयारियों में शामिल रहे। सौरभ ने बताया कि जब आचार्यश्री के बीना की तरफ विहार करने की जानकारी मिली तो झटका सा लगा था और अब वह भी पदयात्रा कर दर्शन करने जा रहे हैं।