स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाभी की गोद में खेल रहे भतीजे को छीनकर सड़क पर पटका, जानिये फिर क्या हुआ

lokesh verma

Publish: Oct 20, 2019 15:12 PM | Updated: Oct 20, 2019 15:12 PM

Amroha

Highlights
- अमरोहा जिले के हसनपुर कोतवाली क्षेत्र की घटना
- डेढ़ वर्षीय बच्चे को गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर किया
- भीड़ पीट-पीटकर कलयुगी चाचा को बनाया बंधक

अमरोहा. डेढ़ वर्षीय एक मासूम को मां की गोद से छीनकर सड़क पर पटकने का शर्मनाक मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि एक युवक शराब पीने के लिए परिजनों से रुपये मांग रहा था। जब परिजनों ने उसे रुपये देने से इनकार किया तो उसने अपनी भाभी की गोद से मासूम भतीजे को छीनते हुए सड़क पर पटक दिया। इसके बाद बच्चे को गंभीर हालत में एक निजी हाॅस्पिटल में भर्ती कराया। जहां से चिकित्सकों ने उसे हायर सेंटर में रेफर कर दिया। वहीं इससे गुस्साए परिजनों व अन्य लोगों ने आरोपी युवक की जकमर धुनाई करते हुए बंधक बना लिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- दिल्ली एनसीआर में सीमा पर सुरक्षा बढ़ी, बॉर्डर हुए सील, जानिये क्यों

जानकारी के अनुसार, अमरोहा जिले की हसनपुर कोतवाली क्षेत्र के खेबान मोहल्ले में सोनू जाटव अपने दो भाइयों के साथ रहता है। सोनू शादीशुदा है, जबकि उसके दोनों भाई कुंवारे हैं। बताया जा रहा है कि सोनू का मझला भाई पंकज नशे का आदी है। पंकज आए दिन शराब के नशे में परिजनों से झगड़ा करता है। पंकज ने शनिवार को परिजनों से शराब पीने के लिए रुपये मांगे, लेकिन परिजनों ने देने से इनकार कर दिया। इससे गुस्साए पंकज भाभी की गोद में खेल रहे डेढ़ वर्षीय भतीजे अर्श को छीन लिया और घर से बाहर जाकर सड़कर पर पटक दिया।

सड़क पर पटकने से मासूम बुरी तरह घायल हो गया, जिसके बाद तुरंत उसे सीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने बच्चे की हालत को गंभीर बताते हुए हायर सेंटर रेफर कर दिया। वहीं घटना से गुस्साए परिजनों व अन्य लोगों ने पंकज को पकड़कर जमकर धुना। इसके बाद लोगों ने उसे मंदिर के गेट से बांध दिया। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस आरोपी पंकज को गिरफ्तार कर कोतवाली ले गई। इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक आरपी शर्मा का कहना है कि आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसका चालान कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें- Gym जाने वाले युवकों में इस वजह से हो रही टीबी, 20-30 वर्ष के युवा बन रहे रोगी