स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गजबः 10वीं की छात्रा से करा दी युवक की शादी, दोनों को पता नहीं कब हुआ विवाह

lokesh verma

Publish: Aug 21, 2019 15:56 PM | Updated: Aug 21, 2019 15:56 PM

Amroha

खास बातें-

  • युवक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की
  • सामूहिक विवाह योजना में सामने आया भ्रष्टाचार का मामला
  • आरटीआई में खुली अधिकारियों और कर्मचारियों की पोल

अमरोहा. जिले की नौगावां सादात नगर पंचायत में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के नाम पर भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। यहां सामूहिक विवाह योजना के नाम पर अधिकारियों और कर्मचारियों ने गोलमाल करते हुए नाबालिग लड़कियों की शादी कराकर खूब भ्रष्टाचार किया है। वहीं अब आरटीआई में खुलासा हुआ है कि एक युवक की कागजों में शादी कराकर उसके पैसों को हड़प लिया गया है। इतना ही नहीं बाद में फर्जी तलाकनामा बनाकर तलाक भी करा दिया गया। अब युवक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की है।

दरअसल, अमरोहा जिले के नौगावां सादात क्षेत्र के एक व्यक्ति ने एक आरटीआई लगाते हुए प्रशासन से जानकारी मांगी थी कि पिछले दो साल में सामूहिक विवाह योजना का लाभ कितने लोगों को मिला है। सूचना के अधिकार के तहत बाकायदा नामों की सूची समेत विवरण मांगा गया था। इसके जवाब में जो सूची मिली उसने सभी को हैरान कर दिया। इस सूची में आरटीआई लगाने वाले व्यक्ति के परिचित अली हैदर का नाम भी शामिल था। इसके बाद उन्होंने तत्काल अली हैदर को इसकी जानकारी दी।

यह भी पढ़ें- अप्राकृतिक संबंधों का विरोध करने पर शादी के 42 दिन बाद ही पत्नी को दे दिया तीन तलाक

इस पर अली हैदर ने बताया कि नगर पंचायत के अधिकारियों-कर्मचारियों ने सामूहिक विवाह योजना के तहत उनकी शादी नाज बतूल से होने की जानकारी दी है, जिसमें दोनों के नाम शामिल हैं। हैदर ने बताया कि मौजूदा समय में नाज कक्षा दसवीं की छात्रा है और वह नाबालिग है। अली हैदर का आरोप है कि जब उन्होंने नगर पंचायत के अधिकारियों के साथ कस्बे के कुछ लोगों पर फर्जी सामूहिक विवाह में नाम दर्ज कराकर पैसा हड़पने की बात कही तो बाद में दोनों का फर्जी तलाकनामा भी बना दिया गया।

नौगावां सादात अधिशासी अधिकारी संदीप कुमार ने बताया कि शिकायत मिली है। इसमें किसकी लापरवाही है, इसकी जांच कराई जा रही है। जांच के बाद जो भी अधिकारी-कर्मचारी दोषी पाया जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। वहीं अली हैदर ने इस मामले की शिकायत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ें- बहन से मिलने पहुंचे पांच भाइयों काे ससुरालियों ने बेहरमी से पीटा, पुलिस ने भी पीड़ितों को ही किया प्रताड़ित