स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पठानकोट: वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव से नुकसान, अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

Prateek Saini

Publish: Oct 14, 2019 19:59 PM | Updated: Oct 14, 2019 19:59 PM

Amritsar

आरपीएफ पोस्ट कमांडर विजय कुमार ने बताया कि पत्थरबाजों की धरपकड़ के लिए स्पेशल टीम का गठन किया गया है,ट्रेन पर पथराव करने वाला पकड़ा गया तो इस हरकत के लिए 10 साल तक कैद का प्रावधान है।

(पठानकोट): पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन के पास चक्की पुल पर सोमवार को वंदे भारत एक्सप्रेस पर पत्थर फेंके गए। इससे ट्रेन के एक कोच का शीशा टूट गया। पथराव की खबर मिलते ही रेल डिवीजन के अधिकारियों में हड़कंप मच गया, मौके पर आरपीएफ गई पर वहां कोई नहीं मिला। आरपीएफ ने अज्ञात पर मामला दर्ज कर लिया है।


जानकारी के अनुसार वंदे भारत एक्सप्रेस दिल्ली से कटरा जा रही थी तभी शाम (5:32 बजे) चक्की पुल पर पत्थर फेंके गए, जिनमें से एक पत्थर सी-4 कोच के शीशे पर लगा। जिससे शीशा टूट गया। हालांकि ट्रेन बिना रुके पठानकोट कैंट से 5:37 बजे गुजर गई पर सी-4 कोच में सवार यात्री ने इसकी जानकारी आरपीएफ टीम (एस्कॉर्ट) को दी। एस्कॉर्ट टीम ने दिल्ली हेड ऑफिस में शिकायत दी। शिकायत के 10 मिनट में आरपीएफ पोस्ट कमांडेंट समेत पूरी टीम पथराव वाले स्थान पर पहुंची पर वहां कोई नहीं मिला। आरपीएफ ने अज्ञात व्यक्ति पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


घटना स्थल है नशेड़ियों का डेरा

दरअसल पथराव वाला स्थान पंजाब-हिमाचल सीमा पर स्थित है, पहाड़ी और जंगली इलाका होने के कारण नशेड़ियों का अड्‌डा बन चुका है। बता दें, 130 किलोमीटर की रफ्तार से चलने वाली पहली स्वदेश निर्मित वंदे भारत एक्सप्रेस देश में चलने वाली 8100 के करीब ट्रेनों में शीर्ष है।

 

पत्थरबाजों को पकड़ने के लिए टीम का गठन

आरपीएफ पोस्ट कमांडर विजय कुमार ने बताया कि पत्थरबाजों की धरपकड़ के लिए स्पेशल टीम का गठन किया गया है। कहा कि जल्द ही आरोपी गिरफ्त में होगा। उन्होंने बताया कि ट्रेन पर पथराव करने वाला पकड़ा गया तो इस हरकत के लिए 10 साल तक कैद का प्रावधान है।


पंजाब की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Video: दशहरे का खूनी मंजर, ट्रेन की चपेट में आए थे 60 लोग, मदद को भटक रहे पीड़ित परिवार