स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंजाब को दहलाने आइएसआइ ने रचा खेल, हिंदुस्तानी जांबाजों के आगे हुआ फेल

Nitin Bhal

Publish: Oct 02, 2019 22:11 PM | Updated: Oct 02, 2019 22:11 PM

Amritsar

Latest Punjab News: पूरे पंजाब ( Punjab ) को दहलाने के लिए पाकिस्तान ( Pakistan ) की नापाक खुफिया एजेंसी आइएसआइ ( ISI ) ने जो षड्यंत्र खालिस्तान ( Khalistan ) के नाम पर पंजाब के युवाओं के साथ रचा है ...

अमृतसर. पूरे पंजाब ( Punjab ) को दहलाने के लिए पाकिस्तान ( Pakistan ) की नापाक खुफिया एजेंसी आइएसआइ ( ISI ) ने जो षड्यंत्र खालिस्तान ( Khalistan ) के नाम पर पंजाब के युवाओं के साथ रचा है उसका भेद खुलता जा रहा है। पंजाब पुलिस की स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल ने आतंकी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के एक और आतंकी साजन प्रीत सिंह को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। मंगलवार देर रात पकड़े गए आतंकी साजन प्रीत सिंह को अदालत ने पांच दिन के रिमांड पर भेज दिया है। साजन को आकाशदीप सिंह का साथी बताया जा रहा है। साजनप्रीत सिंह पर आरोप है कि उसने पाकिस्तान से आए ड्रोन के माध्यम से सीमा के इस पार पहुंची हथियारों की खेप में से दो पिस्तौल को छिपा दिया था।

भागने की तैयारी में पकड़ा गया

पंजाब को दहलाने आइएसआइ ने रचा खेल, हिंदुस्तानी जांबाजों के आगे हुआ फेल

जंडियाला के गांव बंडाला निवासी साजन प्रीत सिंह को मंगलवार देर रात खालसा कॉलेज के नजदीक उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह भागने की तैयारी कर रहा था। आकाशदीप उन चार आतंकवादियों में था, जिन्होंने पाकिस्तान से ड्रोन के माध्यम से आई हथियारों की खेप प्राप्त की थी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान में बैठकर पंजाब में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने की साजिश में जुटे आतंकी रंजीत सिंह नीटा ने साजनप्रीत सिंह को हथियारों की खेप के साथ भेजे ड्रोन को नष्ट करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। झब्बाल में बरामद अधजले ड्रोन को साजनप्रीत सिंह ने ही आकाशदीप के साथ मिलकर जलाया था। बाद में साजनप्रीत ने इस ड्रोन के कुछ टुकड़े लाहौर कनाल में भी फेंक दिए थे। सीमावर्ती गांव महावा में बरामद ड्रोन को ठिकाने लगाने की जिम्मेदारी भी आकाशदीप और साजन प्रीत को सौंपी गई थी।

दो पिस्तौल छिपाई थीं

पंजाब को दहलाने आइएसआइ ने रचा खेल, हिंदुस्तानी जांबाजों के आगे हुआ फेल

जानकारी के अनुसार पुलिस को पकड़े गए चार आतंकवादियों से पूछताछ के दौरान जानकारी मिली थी कि हथियारों की खेप के साथ दो विदेशी पिस्तौल भी थे, जिन्हें उनके साथी साजनप्रीत सिंह ने अपने पास रख लिया। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की।22 सितंबर को पुलिस ने पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए आए हथियारों की बड़ी खेप बरामद की थी। इस संबंध में पुलिस ने होशियारपुर निवासी बलवंत सिंह बाबा, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह, गुरदेव सिंह, अमृतसर के आकाशदीप सिंह, तरनतारन निवासी शुभ प्रीत सिंह और जेल में बंद आतंकी मानसिंह को गिरफ्तार कर लिया था।

इनके कब्जे से पांच एके-47 राइफलें व अन्य हथियार बरामद किए गए थे। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार आतंकी साजनप्रीत सिंह आतंकी गतिविधियों में हिस्सा लेने के लिए अपना हुलिया बदल लेता था। कभी वह दस्तार सजा लेता था। आजकल वह बड़ी मूंछ के साथ घनी दाढ़ी रखे हुए थे। उसने कानों में हल्की सफेद रंग की बाली पहनी हुई थी। इससे साथ ही उसने अपने बालों का स्टाइल इस ढंग से बनाया हुआ था कि जब भी उसे दस्तार सजाने की जरूरत पड़े तो बालों से ऐसे लगे कि उसके केश हैं।