स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बलदेव को मारने पर 50 लाख का ईनाम - पाक की घटिया हरकत

Yogendra Yogi

Publish: Oct 01, 2019 18:37 PM | Updated: Oct 01, 2019 18:37 PM

Amritsar

सरकार की शय पर पाकिस्तानी अब इस हरकत पर उतर आएं हैं कि अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने के बजाए जान से मारने के ईनाम घोषित कर रहे हैं। कश्मीरियों की दुहाई देने वाली पाकिस्तान सरकार अल्पसंख्यकों की सुरक्षा करने मे विफल है।

जालंधर (धीरज शर्मा): सरकार की शय पर पाकिस्तानी अब इस हरकत पर उतर आएं हैं कि अल्पसंख्यकों को सुरक्षा देने के बजाए उन्हें प्रताडि़त करने के बाद जान से मारने के ईनाम घोषित कर रहे हैं। कश्मीरियों की दुहाई देने वाली पाकिस्तान सरकार न सिर्फ अल्पसंख्यकों की सुरक्षा करने मे विफल है बल्कि उन्हें देश छोडऩे को विवश करने वाले अराजकतत्वों की रोकथाम करने भी पूरी तरह नाकामयाब है। पाकिस्तान में कानून-व्यवस्था की लाचारी का आलम यह है कि अराजकतत्वों से जान बचाकर भारत आए पाकिस्तान के पूर्व विधायक बलदेव कुमार को जान से मारने के लिए ५० लाख रूपए का ईनाम घोषित किया गया है। यह पाकिस्तान में अराजकता के चरम पर पहुंचने जाने का प्रमाण है। पाकिस्तान को इस हरकत पर कोई शर्मिंदगी नही है।

अल्पसंख्यक नेता बलदेव को मारने पर ईनाम
यह घोषणा इमरान खान की पार्टी के नेताओं ने की है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार की आवाज बलदेव का सम्मान किए जाने के बजाप उन्हें पाकिस्तान का गद्दार कहा जाने लगा है। गौरतलब है कि बलदेव ने सिख और हिंदूओं पर पाकिस्तान में किए जा रहे अत्याचारों को सार्वजनिक किया था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के एक नेता ने पूर्व विधायक बलदेव कुमार पर 50 लाख रुपये का इनाम रखा है। इमरान खान के करीबी इस नेता ने कहा है कि बलदेव कुमार पाकिस्तान लौटे तो वह खुद उसकी हत्या करेगा। इसके साथ ही पाकिस्तान में रह रहे खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला ने भी बलदेव पर अपनी भड़ास निकाली है।

फेसबुक पर धमकी
पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता हाजी नवाब ने फेसबुक पर पोस्ट डालकर बलदेव कुमार को लेकर जहर उगला है। उसने बलदेव कुमार की हत्या की धमकी दी है और उनकी हत्या के लिए इनाम देने की बात कही है। फेसबुक पर डाली पोस्ट में हाजी नवाब ने कहा है कि बलदेव कुमार अगर पाकिस्तान लौट आए तो उसकी मौत मेरे हाथों होगी। अगर भारत में कोई उसका कत्ल करेगा तो उसे 50 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

खालिस्तान परस्त चावला भी साथ
इसके अलावा खालिस्तान परस्त पाक सिख नेता गोपाल सिंह चावला ने एक बार फिर बलदेव के खिलाफ जहर उगला है। गोपाल सिंह चावला ने भी फेसबुक पर पोस्ट डालकर बलदेव कुमार पर निशाना साधा है। चावला इससे पहले भी बलदेव कुमार के खिलाफ पोस्ट कर अपनी भड़ास निकलता रहा है। हाजी नवाब ने कहा है कि बलदेव को भारत सरकार राजनीतिक शरण नहीं देगी और वह वापस पाकिस्तान ही आएगा। वह पाकिस्तान आया तो उसे बॉर्डर पर ही मार देंगे।

पाक में अल्पसंख्यक असुरक्षित
बता दें कि हाजी नवाब पीटीआई का बड़ा नेता है और बारीकोट तहसील के यूनियन कौंसिल का चेयरमैन है। बलदेव कुमार भी इसी तहसील के रहने वाले हैं और बारीकोट सीट से ही विधायक बने थे। बलदेव ने कुछ दिन पहले भारत आकर जहां केंद्र सरकार से शरण मांगी थी, वहीं पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों से हो रहे जुल्म व पड़ोसी मुल्क के हालात के बारे में कई तथ्य उजागर किए थे। हाजी नवाब द्वारा डाली गई पोस्ट पर पीटीआइ के पूर्व नेता और पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के मौजूदा नेता जेके यूसुफ जई से तीखी बहस हुई। उन्होंने धमकी भरी पोस्ट पर एतराज जताकर पूछा कि हाजी कौन होते हैं बलदेव को मारने वाले। गौरतलब है कि पीडीएम पाकिस्तान सेना द्वारा आम जनता पर किए जाने वाले जुल्मों के खिलाफ लड़ाई लड़ती है।