स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घर पहुंचे सिद्धू क्या करेंगे Òघर वापसीÓ या पकड़ेंगे और ही राह ?

Brijesh Singh

Publish: Jul 21, 2019 21:37 PM | Updated: Jul 21, 2019 21:37 PM

Amritsar

Navjot Singh Siddhu Today: नवजोत सिंह सिद्धू रविवार शाम अपना सरकारी आवास छोड़ अमृतसर स्थित अपने निवास पर परिवार सहित पहुचे।

अमृतसर, (धीरज)। पंजाब की कांग्रेस सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा देकर भूचाल पैदा करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ( Navjot Singh siddhu ) रविवार शाम अमृतसर स्थित अपने निवास पर परिवार सहित पहुच गए। इस दौरान उन्होंने मीडिया से दूरी बनाए रखी। खबर है कि इस्तीफा स्वीकार होने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने चंडीगढ़ स्थित सरकारी आवास को खाली करना भी शुरू कर दिया। रविवार को वह अपने अमृतसर स्थित निवास स्थान पर परिवार सहित पहुंच गए। राजनीतिक तौर पर कांग्रेसी नेताओं की पोल खोलने से शुरुआत करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने भाजपा छोड़ पाला बदल कर कांग्रेस का दामन थामा था।

 

अब तक भाजपा पर खूब हमलावर रहे हैं सिद्धू

कांग्रेस में आते ही भाजपा नेताओं पर फब्तियां कसने वाले सिद्धू अब उलझन में फंसे दिखाई दे रहे हैं। प्रदेश की सत्तासीन सरकार में मंत्री पद पर रहते हुए भी कई तरह के प्रकरणों और मुख्यमंत्री ( Amrinder Singh ) से तकरार होने के कारण आखिरकार उन्होंने अपना इस्तीफा राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) को भेज दिया। जब दिल्ली में कोई समाधान नहीं निकला, तो अपने इस्तीफे को ट्वीट कर लोगों को जानकारी दी। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ( Capt. amrinder singh ) ने भी पहले तो कुछ दिन तक मामले को लटकाए रखा, लेकिन 20 जुलाई को उनका इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया। इसके बाद शनिवार को पंजाब के राज्‍यपाल वीपी सिंह ( Governer VP Singh ) को सिद्धू का इस्तीफा भेज दिया। राज्‍यपाल से भी मंजूरी मिलने के बाद सिद्धू ने चंडीगढ़ स्थित अपना सरकारी आवास को खाली करना शुरू कर दिया।

 

तो किस राह चलेंगे *****

नवजोत सिंह सिद्धू अपनी सबसे लंबी पारी भाजपा के साथ खेल चुके हैं। भाजपा में रहने के दौरान न सिर्फ वे सांसद रहे, बल्कि उनकी पत्नी ( Navjot Kaur ) तत्कालीन भाजपा-अकाली सरकार ( AKALI-BJP GOVERNMENT ) में प्रभावशाली मंत्री भी रहीं। सिद्धू को महत्वाकांक्षी नेता माना जाता रहा है। बादल परिवार ( Badal Family ) के भाजपा से अच्छे रिश्ते और पंजाब में प्रभाव को देख कर सिद्धू को भाजपा में अपनी दाल गलती नहीं दिखाई दी, तो उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा और पीएम मोदी सहित पूरी पार्टी पर ताबड़तोड़ हमले किए। अब जबकि सिद्धू की पारी कांग्रेस में समाप्त होती दिखाई दे रही है, तो राजनीतिक हलको में सवाल उठ रहे हैं कि क्या सिद्धू आम आदमी पार्टी या बैंस की लोक इंसाफ पार्टी ( Lok Insaaf Party ) का दामन थामेंगे या अपनी पुरानी पार्टी भाजपा का रुख करेंगे।

 

पंजाब की ताजा खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें...नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, 10 जून को ही राहुल गांधी को सौंपा था