स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर स्वर्ण मंदिर में सिख गुटों के बीच झड़प, लहराई गई तलवारें

Prateek Saini

Publish: Jun 06, 2019 17:45 PM | Updated: Jun 06, 2019 17:45 PM

Amritsar

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी के मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह कौम के नाम संदेश जारी कर रहे थे तभी...

(अमृतसर): ऑपरेशन ब्लू स्टार की 35 वीं बरसी पर आज अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में श्री अकाल तख्त साहिब में सिख गुटों के बीच टकराव हो गया। अकाल तख्त पर पहुंचे सिख गुट आमने-सामने हो गए, खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए और तलवारें व कृपाणें लहराईं गईं।

 

नहीं पढ़ पाए संदेश

golden temple

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी के मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह कौम के नाम संदेश जारी कर रहे थे। तो सरबत खालसा के जत्थेदार ध्यान सिंह मंड अकाल तख्त साहिब के नीचे खड़े होकर संदेश पढ़ रहे थे। इस पर उन्‍हें शिरोमणि कमेटी के अधिकारियों व कर्मचारियों ने रोक दिया। इसके बाद मंड के समर्थकों ने खालिस्तान जिंदाबाद की नारेबाजी शुरू कर दी। उन्‍होंने खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए और तलवारें लहराई गईं। इस विरोध के चलते ज्ञानी हरप्रीत सिंह तीन लाइनों का संदेश ही पढ़ कर सुना पाए। इसके बाद उन्होंने ऑपरेशन ब्‍लूस्‍टार में मारे गए लोगों के परिवारों को सम्मानित किया।


उग्र भीड ने तोड दिए बेरीकेड

 

golden temple

मंड के समर्थक इतने उग्र हो गए कि उन्होंने श्री हरिमंदिर साहिब के भीतर सुरक्षा के लिए लगाए गए बेरीकेड तोड़ दिए। इस दौरान जमकर धक्का- मुक्की हुई और तलवारें व कृपाणें लहराई गईं। मंड समर्थकों की नारेबाजी के बीच अकाली दल अमृतसर के अध्यक्ष सिमजीत सिंह मान भी अकाल तख्त साहिब के पास समर्थकों सहित पहुंच गए। मान के समर्थकों ने खालिस्तान का कथित झंडा भी फहराया। हालात को देखते हुए किसी भी प्रकार की हिंसा को रोकने के लिए अमृतसर में 5000 से अधिक पुलिसबल तैनात किए गए हैं।