स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अरुण जेटली का पंजाब से था ख़ास कनेक्शन, यहां से नहीं जीता कोई चुनाव फिर भी...

Prateek Saini

Publish: Aug 24, 2019 16:37 PM | Updated: Aug 24, 2019 16:37 PM

Amritsar

Arun Jaitely Death: आइए अरुण जेटली ( Arun Jaitley Life Story ) की जिदंगी से जुड़ी कुछ ख़ास बातें और अनछुए पहलू ( Arun Jaitley Life Hidden Facts ) जानते है...

(अमृतसर,धीरज शर्मा): देश ने आज फिर एक दिग्गज नेता खो दिया। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली नहीं रहें। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे, दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में शनिवार 24 अगस्त को दोपहर 12 बजकर सात मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली। बीजेपी के साथ ही तमाम राजनीतिक दलों ने जेटली के देहांत पर शोक व्यक्त किया है। जेटली से जुड़ी यादें हमेशा लोगों के मन में रहेगी। हम आपको ऐसी ही कुछ यादों से रूबरू करवा रहे है...


जेटली का पंजाब कनेक्शन

Arun Jaitely Death

28 दिसंबर 1952 में जेटली का जन्म दिल्ली में हुआ। वह एक पंजाबी परिवार से संबंध रखते थे,इसलिए पंजाब की धरती से उन्हें बहुत लगाव था। साथ ही अमृतसर शहर से उनका गहरा नाता था, शहर के नमक मंडी इलाके में कभी उनका ननिहाल हुआ करता था। उन्होंने पंजाब को बहुत कुछ दिया जिसमें मुख्य रूप से...

 

पंजाब के विकास में बड़ा योगदान

Arun Jaitely Death
अरुण जेटली ने 2014 में अमृतसर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था। वह कांग्रेस के कैप्टेन अमरिंदर सिंह से हार गए थे। इसके वावजूद भी वह हमेशा पंजाब के विकास के लिए तत्पर रहें। IMAGE CREDIT:

पंजाब के विकास में अरुण जेटली का बहुत बड़ा योगदान रहा है। दिल्ली में बैठकर वह पंजाब को भारत का सबसे खुशहाल व स्मार्ट राज्य बनाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहे। उन्हीं की कोशिश से पंजाब को आई आई एम मिला। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा मिल सके इसके लिए उन्होंने कई जिलों का सौंदर्यीकरण किया। वित्त मंत्री रहते हुए उन्होंने पंजाब को स्मार्ट राज्य बनने की ओर अग्रसर किया। उनके पंजाब से लोकसभा चुनाव लड़ने के बाद राज्य की राजनीति में सकारात्मक बदलाव हुआ। अमृतसर में अपना घर भी बनाया जो कि आज सूना पड़ा है।


पंजाब की राजनीति के गुरु अरुण जेटली

Arun Jaitely Death

अरुण जेटली को पंजाब का राजनीतिक गुरु माना जाता रहा है। पंजाब के कई बड़े नेता उनके नक्शे कदम पर चले और राज्य से लेकर राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में बड़े मुकाम हासिल किए। इनमें वर्तमान में कांग्रेस में काम कर रहे नवजोत सिंह सिद्धू, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तरूण चुघ, राज्यसभा सांसद और पंजाब भाजपा अध्यक्ष श्वेत मलिक, अविनाश राय खन्ना, राजेंद्र मोहन सिंह छीना, कमल शर्मा, सुभाष शर्मा राजेश हनी जैसे दिग्गज नेता शामिल हैं।

पंजाब की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: तस्वीरों में देखिए अरुण जेटली की जीवन यात्रा, बचपन से वित्त मंत्री बनने तक का सफर