स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Indo-Pak Relation: पाकिस्तान ने नहीं भेजी ट्रेन, श्रीगुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व मनाने जा रहे श्रद्धालु अटारी बार्डर से वापस लौटे

Prateek Saini

Publish: Jun 14, 2019 20:36 PM | Updated: Jun 14, 2019 20:36 PM

Amritsar

श्रीगुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व मनाने के लिए पाकिस्तान जाना था...

 

 

(अमृतसर): श्रीगुरु अर्जुन देव जी ( arjun dev ji maharaj ) का शहीदी पर्व मनाने के लिए आज (14 जून) पाकिस्तान जा रहे सिख श्रद्धालुओं के जत्थे को देर शाम अटारी बार्डर ( atari border ) से वापस लौटना पड़ा।


रेलवे ने उस ट्रेन को भारत में आने की इजाजत नहीं दी जिससे ये 450 श्रद्धालु पाकिस्तान ( Pakistan ) जाने वाले थे। नानक शाही कैलेंडर के अनुसार गुरु अर्जुन देव जी का शहीदी पर्व 16 जून को है, नानक शाही कैलेंडर के अनुसार शहीदी पर्व मनाने के लिए दिल्ली सिख गुरुद्वारा क मेटी, खालड़ा कमेटी और भाई मरदाना यादगारी सोसायटी की ओर से 150 के करीब यात्रियों का जत्था आज अटारी स्टेशन पहुंचा। पर पाकिस्तान की ओर से अटारी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन ही नहीं आई जिससे वहां पहुंचे चिट्ठे में रोज दिखाई दिया इस मौके पर पाकिस्तान के विरोध में बोलते हुए एक श्रद्धालु बलविंदर सिंह झब्बाल ने कहा कि यात्रियों के पास वीजा होने के बावजूद उनको पाकिस्तान नहीं जाने दिया। उन्होंने कहा कि यात्रियों ने बार—बार ट्रेन को भारत में प्रवेश करवाने की अपील की परंतु रेलवे ने कुछ नहीं सुना बल्कि कि कहा कि कुछ कानूनी तकनीकों के कारण गाड़ी नहीं आई है।

 

 

पैदल रास्ते से भी जाना नहीं हुआ मुमकिन

अटारी स्टेशन पर तैनात विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने जत्थे के लोगों को सड़क रास्ते पाकिस्तान जाने की सलाह भी दी परंतु वह भी कानूनी तौर पर संभव न हो सका, क्योंकि यात्रियों को रेल के माध्यम से पाकिस्तान जाने का वीजा मिला था। रेलवे स्टेशन पर परेशान होने के बाद यात्रियों ने रेल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और वापस अमृतसर लौट आए।