स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

24 सेकेंड का स्मृति ईरानी का एक वीडियो अचानक हुआ वायरल, सोशल मीडिया पर जमकर बटोर रहा सुर्खियां

Nitin Srivastva

Publish: Nov 17, 2019 11:00 AM | Updated: Nov 17, 2019 11:00 AM

Amethi

देखिए इस वीडियो में ऐसा क्या है, जिसके चलते सोशल मीडिया की सुर्खियों में आ गईं स्मृति ईरानी...

अमेठी . नेहरू-गांधी परिवार के गढ़ को भेदना आसान नहीं था। 2019 में इस मिथक को तोड़ते हुए इस नामुमकिन को मुमकिन केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कर दिखाया। कभी केसरिया झंडे से पटा रहने वाले अमेठी का आंगन अब भगवा झंडो से पटा है। ऐसे में अमेठी का की सांसद स्मृति ईरानी का हर अच्छा कदम देश भर में लोगों के बीच खासकर सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना जाता है।


स्मृति ईरानी का 24 सेकेंड का वीडियो वायरल

अब एक बार फिर पिछले कुछ घंटों से स्मृति ईरानी का 24 सेकेंड का एक वीडियो (Smriti Irani Viral Video) सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। बताया जा रहा है कि वीडियो शुक्रवार 15 नवम्बर का है। जानकारी के अनुसार गुजरात में भावनगर के स्वामीनारायण गुरुकुल में मूर्ति प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन हुआ था। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी मूर्ति प्रतिष्ठा महोत्सव में शामिल होने पहुंची थीं। स्मृति ईरानी ने गुरुकुल की छात्राओं के साथ दोनों हाथो में तलवार लेकर तलवारबाजी के करतब दिखाए। गुरुकुल में झांसी की रानी का रास छात्राओं द्वारा प्रस्तुत किए जाने पर स्मृति ईरानी ने दोनों हाथो में तलवार उठाया और रास करतब दिखाए।


अपने कामों को लेकर चर्चा में रहती हैं स्मृति ईरानी

आपको बता दें कि स्मृति ईरानी हमेशा अपने कार्यों को लेकर चर्चा में रहती हैं। लोकसभा चुनावों के दौरान अपने संसदीय क्षेत्र में आग बुझाने के लिए पानी लेकर दौड़ते हुए दिखाई दी थीं। उनको हैंडपंप भी चलाते हुए देखा गया। बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के बाद अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी ने उसके शव को कंधा दिया था। स्मृति ईरानी की उस तस्वीर की भी देशभर में काफी चर्चा हुई थी। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की लोगों ने खूब तारीफ की थी। हाल ही में अमेठी के जिलाधिकारी रहे प्रशांत शर्मा का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह मृतक के रिश्तेदार के साथ दुर्व्यवहार करते हुए दिखे। इसके बाद अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी ने इस मामले में ट्वीट कर डीएम को संवेदनशील बनने की नसीहत दी थी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि विनय शील एवं संवेदनशील बने हम, यही प्रयास होना चाहिए जनता के हम सेवक है, शासक नहीं। इसके बाद प्रदेश सरकार ने गुरुवार को मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रशांत शर्मा को हटा दिया।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]