स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मोहसिन रजा ने कन्या सुमंगला योजना का जिले में किया शुभारम्भ, 35 बेटियों को दिया प्रमाण पत्र

Abhishek Gupta

Publish: Oct 25, 2019 22:39 PM | Updated: Oct 25, 2019 22:39 PM

Amethi

उन्होंने कहा कि निश्चित ही यह योजना बेटियों के लिए बरदान है।

अमेठी. शुक्रवार को अपने एक दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंचे प्रदेश के राज्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण मुस्लिम वक्फ एवं हज उ०प्र० व अमेठी जिले के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा लखनऊ में कन्या सुमंगला योजना का शुभारम्भ के उपलक्ष्य में जनपद में भी 35 बेटियों को कन्या सुमंगला योजना के तहत उनको पंजीकरण प्रमाण पत्र प्रदान किया। इस दौरान उन्होंने इस योजना पर प्रकाश डालते हुये कहा कि प्रदेश में समान लिंगानुपात स्थापित करने व कन्या भ्रूण हत्या को रोकने, बालिकाओ के स्वास्थ्य व शिक्षा को सुदृढ़ करने, बालिका के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने तथा बालिका के प्रति आम जन में सकारात्मक सोच विकसित करने हेतु माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा मार्च 2019 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगल योजना की घोषणा की गई थी। यह योजना 1 अप्रैल 2019 से लागू हो गई थी योजना के अंतर्गत बालिकाओं के जन्म के समय रुपये 2000-एक वर्ष के बाद टीकाकरण पूर्ण करने पर रुपये 1000/-कक्षा 1 में प्रवेश करने के समय रुपये 2000/-कक्षा 6 में प्रवेश के समय रुपये 2000/- कक्षा 9 में प्रवेश के समय रुपये 3000/-तथा 10वी/-12वी परीक्षा उत्तीर्ण कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर रुपये 5000/-एक मुश्त प्रदान किये जाने की व्यवस्था है। कन्या सुमंगल योजना के अंतर्गत ऐसे लाभार्थी पात्र होंगे जिनका परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी हो, जिनके परिवार की वार्षिक आय अधिक्तम रुपये 3.00 लाख तथा जिनके परिवार में दो बच्चे हो। किसी परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को योजना का लाभ प्राप्त हो सकता है। उन्होंने कहा कि निश्चित ही यह योजना बेटियों के लिए बरदान है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से पीछे नही है जरूरत इस बात की है कि बिना भेदभाव के बेटों के समान दर्जा देते हुए बेटियों को भी बिना भेदभाव के शिक्षित बनायें इससे निश्चित ही बेटियां आगे बढेगी और एक नही दो दो घरों में शिक्षा का उजियारा फैलाएगीं। उन्होंने जनपद वासियों से अपील की कि वे अपने बेटियों को जब शिक्षित करेंगे तो निश्चित ही वे आगे बढकर जिले के साथ साथ गांव और देश का नाम भी रोशन करेंगी। प्रभारी मंत्री ने कहा कि देश और समाज के विकास में शिक्षा की अहम भूमिका है इसलिए हम लोगों की जिम्मेदारी बनती है कि बेटों के साथ साथ बेटियों को भी शिक्षित करें ताकि समाज का चहमुँखी विकास हो सके।

[MORE_ADVERTISE1]