स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तेज बारिश से ढह गया मकान, बरामदे के नीचे सो रहे लोगों की मौत

Karishma Lalwani

Publish: Aug 21, 2019 13:15 PM | Updated: Aug 23, 2019 13:50 PM

Amethi

- तेज बारिश से ढह गया मकान

- बरामदे के नीचे सो रहे लोगों की मौत

अमेठी. पिछले दो दिनों से जिले में हो रही बारिश (Heavy Rain) एक परिवार पर कहर बन कर बरसी। बुधवार सुबह बारिश के कारण अमेठी के तिलोई तहसील के अंतर्गत फुरसतगंज के ब्रह्माणी गांव में एक मकान का बरामदा ढह गया। बरामदा गिरने से तीन की मौत हो गई, जबकि दो को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती किया गया।

रास्ते में हो गई मौत

ब्रह्माणी गांव निवासी कमलाकर सिंह (62) के पक्के मकान का बरामदा तेज बारिश के कारण गिर गया। बरामदे की छत गिरने से वहां सो रहे पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। आनन-फानन में उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फुरसतगंज में भर्ती किया गया, जहां रास्ते में दो की और इलाज के दौरान एक की मौत हो गई। मलबे में दबने से सरस्वती सिंह (75), बीना (30) और राज (14) की मौत हो गई। जबकि कमलाकर और उनकी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे की सूचना मिलते ही तिलोई विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह व एसडीएम सुनील कुमार मौके पर पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। विधायक ने एसडीएम से सरकारी सहायता तत्काल दिलाने का निर्देश दिया।

 

तेज बारिश से ढह गया मकान, बरामदे के नीचे सो रहे लोगों की मौत

प्रशासन से नहीं मिली मदद

पीड़ित परिवार के सदस्य महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि मलबे में दबने से तीन की मौत हो गई। उनकी भांजी को गंभीर चोट आई। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए रायबरेली भेजा गया। उन्होंने बताया कि प्रशासन की तरप से कोई मदद उनके परिवार को नहीं मिली। हालांकि, घटना की जानकारी होने पर सीओ, लेखपाल, काननूगो और ग्राम प्रधान से सभी लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट आने के बाद मिलेगी आर्थिक सहायता

हादसे के दौरान मौके पर पहुंचे पुलिस क्षेत्राधिकारी राजकुमार सिंह ने बताया कि मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। घायलों को इलाज के लिए रायबरेली भेजा गया। उधर, एसडीएम ने राजस्व कर्मियों की पूरी रिपोर्ट तलब की। एसडीएम सुनील कुमार ने बताया कि रिपोर्ट के आने के बाद परिवार को आर्थिक सहायता दी जाएगी। ग्राम प्रधान को पीड़ित परिवार की तात्कालिक मदद के लिए निर्देश दिया गया।

ये भी पढ़ें: लखनऊ समेत यूपी के कई जिलों में मूसलाधार बारिश, यहां हुआ हादसा, मौसम विभाग ने कहा यह