स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

12 साल का नाबालिग हुआ पड़ोसियों के गुस्से का शिकार, धारा 107/16 के तहत दर्ज हुआ मुकदमा

Karishma Lalwani

Publish: Jul 16, 2019 19:34 PM | Updated: Jul 16, 2019 19:34 PM

Amethi

- 12 साल के बच्चे पर दर्ज हुआ धारा 107/ 16 के तहत मुकदमा

- पड़ोसियों और मां की थी अनबन

अमेठी. जनपद में एक 12 साल का बच्चा पड़ोसियों के झगड़े और गुस्से का शिकार हो गया। नाबालिग पर धारा 107/16 का केस दर्ज कर दिया गया है। दरअसल, पीड़ित बच्चे की मां गायत्री देवी ने बताया कि उनके पड़ोसियों ने घर के सामने घूर लगा रखी थी। वहीं, पड़ोसियों के पशु सूखने के लिए रखे आने को भी खा जाते हैं। इसका विरोध करने पर दोनों पक्षों में लड़ाई होती है। उन्होंने बताया कि पड़ोसी मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। पीड़ित की मां ने बताया कि झगड़े का बदला लेने के लिए पड़ोसियों ने उनके औऱ उनके 12 वर्षीय बेटे रिशु के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

बच्चे का करियर खत्म

अमेठी से बीजेपी विधायक गरिमा सिंह के पुत्र व विधायक प्रतिनिधि अनंत विक्रम सिंह ने बताया कि मामले के संज्ञान में आने के बाद जांच के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा उसे दंडित किया जाएगा। वहीं, पीड़िता के वकील ने कहा कि इतनी कम उम्र के बच्चे केपर मुकदमा दर्ज करना उसकी मानसिक स्थिती को प्रभावित करेगा। उनका आरोप है कि पुलिस ने गैर जिम्मेदाराना रैवाया अपनाया है। सरकार चाहती है कि अच्छा काम हो उस पर यह लोग पलीता लगा देते हैं। उसमें भी संग्रामपुर पुलिस तो बिल्कुल नकारा हो गई है। वकील ने कहा कि पढ़ने लिखने और खएलकूद की उम्र में बच्चे को कोर्ट कचहरी के लगवाने पर मजबूर किया जा रहा है। हर 14 दिन की तारीख पर बच्चे को कोर्ट में पेश होना है। ऐसा न करने पर उसका वारंट होगा और पूरा करियर खत्म हो जाएगा। उन्होंने अपील की कि संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लिया जाए।

ये भी पढ़ें: अमेठी में बनेगी फास्ट ट्रैक कोर्ट, प्रस्ताव को मिली मंजूरी