स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा नेता के बेटे को सरेआम मारी गोली, परिजनों ने एसपी के सामने की पुलिस के खिलाफ नारेबाजी, अमेठी में बढ़ा तनाव

Karishma Lalwani

Publish: Nov 13, 2019 16:17 PM | Updated: Nov 13, 2019 16:45 PM

Amethi

- एसपी ख्याती गर्ग के सामने परिजनों ने की पुलिस के खिलाफ नारेबाजी
- परिजनों ने की मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग

अमेठी. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) के संसदीय क्षेत्र अमेठी में लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह फेल हो चुका है। अमेठी के जिला मुख्यालय गौरीगंज में एमपी ऑफिस से महज एक किलोमीटर की दूरी पर सरेबाजार में एक युवक को गोली मारी गई। घटना पर पहुंचे एसपी को परिजनों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस बीच परिजनों और जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा के बीच भी तीखी बहस हुई। दिनदहाड़े हुई युवक की मृत्यु के बाद पूरे कस्बे में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई, जिसके बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। किसी तरह परिजनों को मनाकर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बीच बचाव में मारी गोली

मामला गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र के मुसाफिरखाना मार्ग पर स्थित बिसुनदासपुर का है। यहां कस्बे में रहने वाले अर्पित और चंद्रशेखर के बीच पुरानी बात को लेकर कहासुनी हो गई। विवाद बढ़ता देख भाजपा नेता शिवनायक सिंह के बेटे और भट्टा व्यवसायी सोनू सिंह बीच बचाव में पहुंचे। लेकिन चेंद्रशेखर ने सोनू पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं। मौके पर मौजूद लोगों ने गंभीर रूप से घायल सोनू को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

ये भी पढ़ें: कारसेवकपुरम में खुशी, लेकिन रजनीकांत के जाने का गम

वारदात की सूचना मिलने के बाद घटनास्थल पर एसपी ख्याती गर्ग पहुंची, जहां उन्हें मृतक के परिजनों के विरोध का सामना करना पड़ा। ग्रामीणों ने एसपी की मौजूदगी में पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की। परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी होने तक पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। इस बीच पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा और मृतक के परिजनों के बीच विवाद हो गया। जिलाधिकारी ने आक्रोशित भीड़ के बीच मृतक सोनू सिंह के चचेरे भाई व पीसीएस अधिकारी सुनील सिंह की शर्ट पकड़कर उसे खींचा।

[MORE_ADVERTISE1]amethi[MORE_ADVERTISE2]

मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी की मांग

पुलिस अधीक्षक डॉ. ख्याती गर्ग के मुताबिक, आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है और उनकी गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई गई हैं। वहीं, मृतक के परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के सामने अपनी चार सूत्रीय मांग रखी। जिला प्रशासन को सौंपे गए मांग पत्र में परिजनों ने मृतक सोनू सिंह की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। साथ ही मृतक के परिवार को 20 लाख रुपये का मुआवजा देने, आरोपियों की गिरफ्तारी और उनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट व रासुका के तहत कार्रवाई की मांग की है। इसके अलावा परिजनों ने क्राइम ब्रांच और आरोपियों के बीच संबंधों का आरोप लगाते हुए उच्च स्तरीय जांच की भी मांग की है।

ये भी पढ़ें: जमीन लेने को तैयार हुए इकबाल अंसारी, कहा बनवाएंगे स्कूल और अस्पताल

[MORE_ADVERTISE3]