स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ईरानी प्रतिबंधों का भारत नहीं कर रहा उल्लंघन, कोई सबूत नहीं: अमरीका

Shweta Singh

Publish: Aug 21, 2019 16:10 PM | Updated: Aug 22, 2019 08:34 AM

America

  • अमरीका ने बीते साल से बढ़ाए हैं ईरान पर प्रतिबंध
  • अमरीकी मीडिया ने भारत पर लगाया था, प्रतिबंध के उल्लंघन का आरोप

वाशिंगटन। अमरीका के एक शीर्ष राजनयिक ने भारत के पक्ष में बयान दिया है। उन्होंने ईरान मुद्दे पर भारत का बचाव करते हुए कहा कि वॉशिंगटन के पास इस बात के कोई सबूत नहीं है कि भारत, ईरान पर लगे अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन कर रहा है। राजनयिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात कही है।

चाबहार के जरिए अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन

दरअसल, ईरान के लिए विशेष अमरीकी प्रतिनिधि ब्रायन हुक ने मीडिया के प्रश्नों का जवाब दे रहे थे, तभी उनसे पूछा गया कि भारत चाबहार बंदरगाह के जरिए अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन कर रहा है? इसके जवाब में हुक ने कहा कि हमारे पास इसका कोई सबूत नहीं हैं कि भारत अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन कर रहा है। बता दें कि यह यह बंदरगाह अफगानिस्तान के विकास के लिए ईरान बना रहा है।

भारत के खिलाफ सबूत नहीं

मीडियाकर्मी ने आरोप लगाते हुए सवाल किया कि भारत चाबहार (ईरान) से अपनी खेप भेजता है, जिसे बाद में अफगानिस्तान भेजा जाता है। अमरीका का भारत पर चाबहार के इस्तेमाल करने से रोकने का दबाव है। ऐसे में भारत इसका अफगानिस्तान को विकसित करने की अपनी योजनाओं के साथ कैसे सामंजस्य स्थापित करता है? इसके जवाब में हुक ने कहा,'मुझे उन सबूतों का इल्म नहीं है, जिसका आपने हवाला दिया है।' हुक ने कहा कि भारत अमरीकी प्रतिबंधों का उल्लंघन नहीं कर रहा है।