स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमरीका: फिलाडेल्फिया में गोलीबारी, 6 पुलिसकर्मी घायल

Anil Kumar

Publish: Aug 15, 2019 10:55 AM | Updated: Aug 16, 2019 08:21 AM

America

  • पुलिस अधिकारी फिलाडेल्फिया के निकेटाउन-टियागो में एक घर पर ड्रग्स वारंट लेकर पहुंचे थे
  • अमरीकी मीडिया ने फायरिंग करने वाले संदिग्ध शख्स की पहचान मॉरिस हिल नाम से की है

वाशिंगटन। अमरीका में एक के बाद एक गोलीबारी की घटना ने सबको हैरान कर दिया है। अब ताजा मामले में उत्तरी फिलाडेल्फिया में गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया गया है। इस गोलीबारी की घटना में 6 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।

बताया जा रहा है कि स्थानीय समयानुसार लगभग शाम 4:30 बजे पुलिस और शूटर के बीच गोलीबारी की घटना हुई। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस अधिकारी फिलाडेल्फिया के निकेटाउन-टियागो में एक घर पर ड्रग्स वारंट लेकर पहुंचे थे, तभी अचानक बंदूकधारी ने गोली चला दी।

अमरीका: भारतीय छात्र ने यूएसबी किलर लगाकर खराब किए कॉलेज के कंप्यूटर, अब मिली ऐसी सजा

हालांकि पुलिस ने बंदूकधारी से आत्मसमर्पण करने का आग्रह किया। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें संदिग्ध व्यक्ति को दिखाया दे रहा है। संदिग्ध व्यक्ति को अमरीकी मीडिया ने मॉरिस हिल नाम दिया है।

एक SWAT टीम ने बंदूकधारी के साथ घर के अंदर फंसे दो अधिकारियों और तीन अन्य लोगों को बचाया। पुलिस आयुक्त रिचर्ड रॉस ने कहा कि SWAT टीम चुपके से घर के अंदर प्रवेश किया, ताकि अधिकारियों को बंधक स्थिति से सुरक्षित निकाला जा सके।

फिलाडेल्फिया में फायरिंग

हालात पर राष्ट्रपति ट्रंप की नजर

बता दें, व्हाइट हाउस की प्रधान उप प्रेस सचिव होगन गिडले ने बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हालात पर नजर रखे हुए हैं। यह घटना बीते दिनों अल पासो और डेटन में 24 घंटे के भीतर हुई गोलीबारी की घटनाओं के बाद हुई है। इन दोनों घटनाओं में 30 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि कई अन्य घायल हुए थे।

फिलाडेल्फिया पुलिस विभाग (पीपीडी) के प्रवक्ता एरिक ग्रीप ने बताया कि छह पीपीडी अधिकारियों को अस्पताल इलाके में गोली मारी गई। हालांकि, अब सभी खतरे से बाहर हैं।

अमरीका में हफ्तेभर में फायरिंग की तीसरी बड़ी घटना, टोरंटो नाइटक्लब में गोलीबारी में सात घायल

पुलिस आयुक्त रिचर्ड रोस ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से हमलावर से बात करने की कोशिश की, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया।

अल पासो और डेटन में हुई गोलीबारी की घटना के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने पीड़ित परिवारों को भरोसा दिया था कि उचित कार्रवाई की जाएगी और पीड़ितों को हर संभव मदद किया जाएगा। लेकिन अब एक बाद एक गोलीबारी की घटना ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.