स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Video: आईजी ऑफिस में पति और बच्चों के साथ आत्मदाह करने पहुंची कथित गैंगरेप पीडि़ता, चौकी प्रभारी और 2 आरक्षकों पर दुष्कर्म का आरोप

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Nov 11, 2019 18:02 PM | Updated: Nov 11, 2019 18:02 PM

Ambikapur

Self-immolation: पीडि़ता के अनुसार 5 महीने पहले उसके पुराने घर में उत्तेजक दवा खिलाकर किया था गैंगरेप, जांच की कॉपी नहीं दे रही पुलिस, पति को धोखाधड़ी के मामले में लिया था हिरासत में

अंबिकापुर. कोरिया जिले के खडग़वां चौकी अंतर्गत निवासी एक महिला सोमवार को अपने पति व 2 बच्चों के साथ आईजी ऑफिस में आत्मदाह (Self-immolation) करने पहुंची थी। महिला का आरोप है कि उसके साथ चौकी प्रभारी व 2 आरक्षकों ने 30 मई की रात उसके पुराने घर में उत्तेजक दवा खिलाकर गैंगरेप (Gang rape) किया था।

पुलिस ने घटना दिवस के उसके पति को चेक बाउंस के मामले में गिरफ्तार किया था तथा पति को छोडऩे के नाम पर 1 लाख रुपए की डिमांड की थी। रुपए लेने रात में चौकी प्रभारी व 2 आरक्षक उसके घर आए थे।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

इसके बाद उन्होंने वारदात को अंजाम दिया था। रुपए भी लूट लिए थे। महिला का कहना था कि मामले की शिकायत उसने 3 महीने पूर्व ही आईजी से की थी लेकिन क्या कार्रवाई हुई, यह बताया नहीं जा रहा है। उसे दौड़ाया जा रहा है।

कोरिया जिले के खडग़वां चौकी अंतर्गत ग्राम भरतपुर निवासी एक महिला ने चौकी प्रभारी ओमशंकर साहू, आरक्षक जस्सी व सुरेश तिग्गा पर 30 मई 2019 की रात गैंगरेप (Gang rape with women) का आरोप लगाया है।

इस मामले की शिकायत उसने 3 महीने पहले आईजी से की थी। इधर सोशल मीडिया पर किसी ने खबर फैला दी थी कि पीडि़ता सोमवार की सुबह आईजी ऑफिस में आत्मदाह (Self immolation) करेगी।

यह खबर सुनते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और एडिशनल एसपी समेत पुलिस अमला वहां पहुंच गया। इधर महिला सोमवार की दोपहर आईजी ऑफिस में अपने पति व 2 बच्चों के साथ पहुंची थी। उसे देखते ही पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया।

कथित रेप पीडि़ता ने कहा- घुमाया जा रहा
महिला का कहना था कि शिकायत के बाद भी पुलिस द्वारा आरोपियों के खिलाफ न तो कोई कार्रवाई की गई और न ही उन्हें जांच की कॉपी दी जा रही है।

उन्होंने पुलिस ने घटना दिवस को पुलिस के मोबाइल का लोकेशन मांगा था लेकिन उन्हें जांच संबंधी दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं। आईजी ऑफिस में वे कई बार इस मामले को लेकर आ चुके हैं लेकिन मामले को टाला जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE3]

जांच में मामला निकला असत्य
इस मामले में एडिशनल एसपी OM Chandel का कहना है कि महिला की शिकायत के बाद आईजी द्वारा इसकी जांच जशपुर एडिशनल एसपी से कराई गई थी। टीम में सभी महिला सदस्य थी। जांच में महिला द्वारा लगाए गए आरोप असत्य थे। उन्होंने कहा कि महिला को आत्मदाह के लिए किसने उकसाया, इसकी भी जांच की जा रही है।

उसके खिलाफ भी कार्रवाई करेंगे। उन्होंने बताया कि महिला ने 3 साल पूर्व भी अपने देवर पर रेप का आरोप लगाया था और कोर्ट में बयान से पलट गई थी। वहीं महिला के पति के खिलाफ 420 के 2 मामले दर्ज हैं। जांच की कॉपी महिला को दे दी गई है।

अंबिकापुर की क्राइम की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- ambikapur Crime