स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Video: सूर्योपासना के महापर्व छठ में इस बार नहीं होगा पॉलीथिन का उपयोग, महिला-पुरुषों ने छठघाट पर लिया संकल्प

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Oct 20, 2019 17:55 PM | Updated: Oct 20, 2019 17:55 PM

Ambikapur

Polythene free Chhath: संभाग मुख्यालय अंबिकापुर के शंकर घाट स्थित छठ घाट में साफ-सफाई, लाइटिंग सहित अन्य कार्य तेजी से जारी, भव्य आयोजन की तैयारी

अंबिकापुर. पॉलीथिन मुक्त भारत की कल्पना को साकार करते हुए इस वर्ष शंकर घाट पर पॉलीथिन मुक्त (Polythene free Chhath) छठ का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए मां महामाया सेवा समिति की महिला सदस्यों के साथ ही पुरुषों ने भी शंकरघाट में शपथ ली कि इस वर्ष छठ घाट पर किसी भी प्रकार के पॉलीथिन का उपयोग नहीं किया जाएगा। आयोजन के दौरान कठिन व्रत करने वाले श्रद्धालुओं को भी जागरूक किया जाएगा।


मां महामाया सेवा समिति के तत्वावधान में पिछले 19 वर्षों से 3 दिनों तक आयोजित होने वाली कठिन पूजा छठ (Chhath) में श्रद्धालुओं की सेवा की जाती है। इसके लिए समिति के अध्यक्ष विजय सोनी के नेतृत्व में हर वर्ष बांक नदी की साफ-सफाई करने के साथ ही श्रद्धालुओं के लिए रात में रुकने व अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जातीं हैं।

इस वर्ष मां महामाया सेवा समिति के सदस्यों के साथ ही अध्यक्ष विजय सोनी व महिला सदस्यों ने रविवार को शंकरघाट स्थित छठ घाट (Chhath pooja) पहुंचकर नदी की साफ-सफाई की। सभी ने एकमत होकर निर्णय लिया कि छठ घाट पर इस वर्ष पॉलीथिन का उपयोग नहीं किया जाएगा।

इसके लिए यहां पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को भी जागरूक किया जाएगा। इस दौरान दीपक सिन्हा, शैलेन्द्र सोनी, आकाश गुप्ता, विशाल गोस्वामी, अंजनी दुबे, शंकर प्रजापति, बबलू कुशवाहा, कृष्णा यादव, दीपाली सोनी, श्वेता गुप्ता, सीमा सोनी, किरण सोनी, सुमन सिंह, सुमन अग्रवाल, सरोज सिंह, वर्षा गुहा, सरला राय, राजश्री सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


शपथ के साथ शुरु हुई अनोखी पहल
मां महामाया सेवा समिति के पदाधिकारियों ने छठ घाट की साफ-सफाई करने के साथ ही रविवार की सुबह घाट पर पॉलीथिन मुक्त छठ घाट बनाए जाने का संकल्प लिया। इस दौरान महिला सदस्यों के साथ सभी ने महामाया समिति के अध्यक्ष विजय सोनी द्वारा दिलाई गई शपथ का अनुसरण करने की शपथ भी ली।


साज-सजावट की दिखेगी अद्भुत छटा
मां महामाया सेवा समिति के अध्यक्ष विजय सोनी ने बताया कि नदी के आसपास जितने भी विद्युत पोल लगे हैं और तारों का जाल बिखरा पड़ा हैं, उन्हें हटा दिया जाएगा। छोटे-छोटे पोल पर आकर्षक बिजली की व्यवस्था करने के साथ ही पूरे घाट पर बिजली के लिए अंडरग्राउंड केबल लगा दिए जाएंगे।