स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एंबुलेंस नहीं मिली तो ड्राइवर ने अस्पताल तक दौड़ा दिया ट्रक, नहीं बचा पाया खलासी की जान, हुई थी ये घटना

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Aug 14, 2019 19:13 PM | Updated: Aug 14, 2019 19:13 PM

Ambikapur

Huminity: ड्राइवर ने खलासी को ट्रक से ही पहुंचाया अस्पताल, एक अस्पताल ने नहीं लिया भर्ती, जब तक पहुंचा दूसरे अस्पताल हो चुकी थी मौत

अंबिकापुर. ट्रक का खलासी मंगलवार को शाम 5 बजे बांस के सहारे हाइटेंशन तार को ऊपर उठा रहा था। इस दौरान वह करंट (Death from current) की चपेट में आ गया और गंभीर रूप से झुलस गया। एंबुलेंस नहीं मिलने पर चालक ने उसे ट्रक में ही लेकर लाइफ लाइन अस्पताल इलाज के लिए लाया।

यहां चिकित्सकों ने स्थिति को गंभीर देखते हुए उसे भर्ती नहीं लिया। इसके बाद उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले के चितरंगी थानांतर्गत ग्राम बेलहवा निवासी 22 वर्षीय कांता प्रसाद पिता रघुनाथ नाई पड़ोस के ही ट्रक चालक रमेश कुमार साहू के साथ खलासी का काम करता था। वह मंगलवार को सीमेंट लोड कर शाम 5 बजे सूरजपुर जिले के सिलफिली मदनपुर आया था।

यहां सीमेंट अनलोड करवाने के बाद ट्रक को सड़क पार कर रहा था। सड़क से ऊपर झूलता हुआ हाइटेंशन तार गुजरा हुआ है। खलासी ने बांस के सहारे से तार को ऊपर उठाया था। इस दौरान तार बांस से फिसल गया और उसके हाथ में जाकर संपर्क हो गया। करंट के झटके से वह ट्रक के ट्राली में जा गिरा। करंट से वह गंभीर रूप से झुलस गया।


ट्रक से लेकर पहुंचा अस्पताल
एंबुलेंस की तत्काल व्यवस्था न होने पर चालक उसे ट्रक में ही लेकर लाइफ लाइन अस्पताल अंबिकापुर पहुंचा। यहां चिकित्सकों ने उसकी स्थिति को गंभीर देखते हुए उसे भर्ती नहीं लिया। उसके बाद उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।