स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

छत्तीसगढ़ के शिमला में 14 हाथियों का कहर: बरसात में 3 परिवारों को किया बेघर, जान बचाकर भागे, रौंद दी 5 एकड़ आलू की फसल

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Aug 14, 2019 18:08 PM | Updated: Aug 14, 2019 18:08 PM

Ambikapur

Elephants terror: जान बचाकर भागा तीनों परिवार, घर तोडऩे के अलावा उसमें रखा खा गए सारा अनाज, अन्य ग्रामीणों में दहशत

अंबिकापुर/मैनपाट. मैनपाट के बरिमा में मंगलवार की रात 14 हाथियों के दल ने जमकर उत्पात (Elephants terror) मचाया। हाथियों ने यहां तीन ग्रामीणों के घर को तहस-नहस कर दिया, घर का सारा अनाज भी खा गए। खेत में ट्रैक्टर में रखा 20 बोरी आलू बीज चट कर गए, 5 एकड़ आलू की फसल भी बर्बाद कर दी।

हाथियों के उत्पात (Elephants terror) से ग्रामीण पूरी रात दहशत में रहे। यह गौतिमी हाथी का दल है, जिसे रेडियो कॉलर भी लगा है, इसके बावजूद हाथी रिहायशी क्षेत्रों में घुसकर उत्पात मचा रहे हैं।

 

Elephants broken house

गौरतलब है कि मैनपाट के सरहदी क्षेत्र में गौतिमी हाथी का दल पिछले कई महीनों से विचरण कर रहा है। गौतिमी हाथी को साउथ अफ्रीका से तीन लाख की लागत से मंगाया गया रेडियो कॉलर भी लगाया गया है, इसके बावजूद यह दल रिहायशी क्षेत्रों में उत्पात मचा रहा है।

गौतिमी हाथी का लोकेशन मिलने के बावजूद वन अमला लोगों को जागरूक नहीं कर पा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार की रात गौतिमी हाथी का दल मैनपाट के बरिमा में घुस गया।

 

Elephants terror

यहां हाथियों ने उत्पात (Elephants terror) मचाते हुए मोहन, सोमारू व झिटकू मांझी का घर तहस-नहस कर दिया। हाथियों के पहुंचते ही परिवारवाले किसी तरह जान बचाकर बाहर भागे। हाथी घर में रखा सारा अनाज भी खा गए।

 

Elephants terror

20 बोरी आलू बीज भी चट कर गए
घरों को तोडऩे के बाद हाथियों का दल आलू के खेत में पहुंच गया। हाथियों (Elephants terror) ने 5 एकड़ में लगी आलू की फसल रौंदकर बर्बाद कर दी। साथ ही एक ट्रैक्टर में रखे 20 बोरी आलू बीज भी चट कर गए। हाथियों के उत्पात से ग्रामीण पूरी रात दहशत में रहे।

इसकी सूचना मिलने पर वन अमला सुबह मौके पर पहुंचा। वन अमले ने नुकसान का जायजा लेकर मुआवजा प्रकरण तैयार किया। अभी भी हाथियों का दल बरिमा के नजदीक जंगल में विचरण कर रहा है।

 

सरगुजा में हाथियों से संबंधित खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Elephants News