स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिक्षकों का संविलियन तो सरकार ने कर दिया लेकिन 3 महीने से हैं परेशान, ये है वजह

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Sep 17, 2019 21:00 PM | Updated: Sep 17, 2019 21:00 PM

Ambikapur

Chhattisgarh teachers: शिक्षक एसोसिएशन के सदस्यों ने कलक्टर से मिलकर मांगों के संबंध में दिया आवेदन, कहा- बुनियादी जरूरतें भी नहीं हो रहीं पूरी

अम्बिकापुर. सरगुजा के शिक्षकों (Chhattisgarh teachers) को तीन महीने से अप्राप्त है। वेतन न मिलने की स्थिति में रोजमर्रा के आवश्यक सामान तक खरीदने में असहज हो जा रहे हैं। तीन महीने से वेतन नहीं मिलने से शिक्षकों में काफी रोष है।

मंगलवार को छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष मनोज वर्मा के नेतृत्व में जिले के शिक्षाकर्मियों ने कलक्टर सारांश मित्तर से मिलकर अपनी समस्याएं उनके समक्ष रखी हैं।


गौरतलब है कि जिन शिक्षाकर्मियों का जुलाई 2019 में संविलियन हुआ है, उन्हें वेतन के लाले पड़ गए हैं। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी के यहां जाने पर प्रॉन शिफ्टिंग में दिक्कत होना बताया जाता है। इस तरह शिक्षाकर्मी अपने वेतन के लिए कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं।

वर्ष 2018 में जिन शिक्षकों का संविलियन हुआ था, उनका जुलाई में ही वेतन का भुगतान हो गया था। इस वर्ष तकनीकी त्रुटि बताकर शिक्षकों को परेशान किया जा रहा है।


जल्द हो वेतन का भुगतान
छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष मनोज वर्मा ने सभी का जल्द वेतन भुगतान करने की मांग की है। वर्मा ने कहा कि नए संविलियन हुए शिक्षक कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे हंै।

मानवीय पहलुओं का ध्यान रखते हुए जल्द भुगतान हो। शिक्षकों ने बताया कि स्थिति यह है कि बुनियादी जरूरतें तक पूरा करने में दिक्कत हो रही है, जिससे संविलियन प्रक्रिया ही अधूरी लग रही है।


ये रहे उपस्थित
कलक्टर को ज्ञापन सौंपने के दौरान राकेश दुबे, अमित सोनी, परमानंद चौधरी, मार्टिन केरकेट्टा, हेमंत मिंज, मनी लाल राजवाड़े, आशीष बघेल, पुनीत कुमार कुजूर, निर्मला मरावी, सोनमती सिंह, क्रिस्तुजना, राजकुमारी सिंह, पिंकी टोप्पो, राजकुमारी तिग्गा, सुचिता किंडो, मनोज कुमार खलखो, अनूप कुमार एक्का, अविल तिर्की, वीरेंद्र कुमार एक्का, अरविंद लकड़ा सहित अन्य शिक्षक उपस्थित थे।