स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खाद्य मंत्री के गृहजिले में ही नहीं मिल रहा राशन, ये सोचकर कांग्रेसियों की उड़ी नींद, कलक्टर से की मुलाकात

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Oct 16, 2019 20:27 PM | Updated: Oct 16, 2019 20:27 PM

Ambikapur

Chhattisgarh Congress: कलक्टर से मिलकर कांग्रेसियों ने बताया कि भाजपा के लोगों द्वारा ही चलाया जा रहा राशन दुकान, जान-बूझकर नहीं दे रहे राशन

अंबिकापुर. खाद्य मंत्री के गृह जिले में राशन वितरण प्रणाली की व्यवस्था ने कांग्रेसियों की नींद उड़ा दी है। सैकड़ों राशनकार्ड धारियों को पीडीएस दुकान संचालकों द्वारा राशन देने से इनकार किए जाने की बात को लेकर उन्होंने बुधवार को कलक्टर से मुलाकात की।

उन्होंने बताया कि जिनके राशन कार्ड का नवीनीकरण हो चुका है, उन्हें भी जानबूझकर राशन नहीं दिया जा रहा है। यह पूरा षडयंत्र कांग्रेस को बदनाम करने के लिए किया जा रहा है।


खाद्य मंत्री अमरजीत भगत के गृहजिले सरगुजा में ही राशनकार्ड धारकों को राशन के लिए रोज उचित मूल्य दुकान के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें राशन नहीं मिल पा रहा है। इसे लेकर महापौर डॉ. अजय तिर्की, सभापति शफी अहमद के नेतृत्व में कांग्रेसियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को कलक्टर डॉ. सारांश मित्तर से मुलाकात की।

खाद्य मंत्री के गृहजिले में ही नहीं मिल रहा राशन, ये सोचकर कांग्रेसियों की उड़ी नींद, कलक्टर से की मुलाकात

एक तरफ जहां राशन दुकान संचालक हितग्राहियों को राशन उपलब्ध नहीं करा रहे तो वही राशन व्यवस्था प्रभावित होने से कांग्रेसियों को निकाय चुनाव में प्रभाव पडऩे की आशंका सता रही है। कलक्टर से मिलकर राशन व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ ही राशन दुकानों की निगरानी की तैयारी कांग्रेसियों द्वारा की गई है।

ज्ञापन सौपते हुए शफी अहमद ने कहा कि भाजपा शासन काल से उचित मूल्य दुकानों का संचालन किया जा रहा है। इसकी वजह से जिनका राशन कार्ड नवीनीकृत हो भी गया है, उन्हें राशन नहीं दिया जा रहा है। इसे लेकर दुकानदारों के खिलाफ धरना देने की भी चेतावनी कांग्रेसी पार्षदों ने दिया है।

इस दौरान डिप्टी मेयर अजय अग्रवाल, जेपी श्रीवास्तव, हेमंत सिन्हा, द्वितेन्द्र मिश्रा, राकेश गुप्ता, राजेश मलिक, अरविंद सिंह, पपन सिन्हा, निक्की खान सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


पुराना राशन कार्ड लिए खाद्य विभाग के दफ्तर पहुंची रजिया
हाथों में पुराना राशन कार्ड लिए खाद्य विभाग के दफ्तर पहुंची रजिया निशा ने बताया कि अब तक बड़ी आसानी से राशन दुकान से राशन मिल जाता था, लेकिन नई व्यवस्था के तहत दिए जाने वाले प्रणाली ने इसके राशन पर रोक लगा दी है। सत्यापन के आवेदन के बाद भी इसके कार्ड का सत्यापन नहीं हो सका है।


साढ़े 24 हजार की जगह साढ़े 21 हजार का ही राशन कार्ड सत्यापन
अंबिकापुर नगर निगम क्षेत्र में 24 हजार 508 राशन कार्ड थे, जबकि सत्यापन 21 हजार 676 राशन कार्ड का हो पाया है। इसकी वजह से ही लगभग 3 हजार हितग्राहियों का आवंटन इस बार नहीं पहुंच सका है। हद तो यह है कि राशन दुकान संचालकों द्वारा पुराने राशन कार्ड पर राशन ही उपलब्ध नहीं कराया जा रहा, जिससे हितग्राही परेशान हो रहे हैं और यही चिंता कांग्रेसियों की मुश्किल बढ़ा रही हैं।


कांग्रेसियों का ये आरोप
पिछले लोकसभा चुनाव में चना और नमक के वितरण प्रभावित होने से सरगुजा में 8 के 8 विधानसभा सीटें कांग्रेस के पास होने के बाद भी परिणाम भाजपा के पक्ष में आया था। ऐसे में कांग्रेसियों का साफ तौर पर आरोप है कि भाजपा समर्थित लोगों द्वारा पीडीएस दुकान का संचालन किया जा रहा है और राशन दुकान संचालक कांग्रेस को बदनाम करने के लिए हितग्राहियों को राशन उपलब्ध नहीं करा रहे है।


कांग्रेस करेगी पीडीएस दुकानों की मॉनीटरिंग
कांग्रेस द्वारा खुद ही पीडीएस दुकानों की मॉनीटरिंग की जाएगी। जहां भी गड़बड़ी मिलेगी उस दुकानदार के खिलाफ धरना भी दिया जाएगा। कलक्टर ने कहा है कि इसकी जानकारी उन्हें दें। १५ मिनट के अंदर दुकान संचालक को निलंबित करने के साथ ही बर्खास्त भी किया जाएगा।
शफी अहमद, सभापति नगर निगम


कार्रवाई की कही गई है बात
जिला प्रशासन ने भी पीडीएस के आधार पर राशन उपलब्ध कराने के साथ ही वार्ड में बदलाव होने पर भी राशन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। खुद राशन दुकान संचालकों की बैठक लेकर स्पष्ट निर्देश देते हुए आदेश का पालन नहीं होने पर कार्रवाई की बात कही गई है।
डॉ सारांश मित्तर, कलक्टर