स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मां ने रुपए लिए थे उधार, महिला पैसे मांगने गई तो बेटे ने घर के दरवाजे पर ही उसका कर दिया ये हश्र, फिर...

Ram Prawesh Wishwakarma

Publish: Nov 05, 2019 20:18 PM | Updated: Nov 05, 2019 20:18 PM

Ambikapur

Ambikapur Crime: 3 महीने से न तो रुपए जमा कर रही थी और न ही फोन रिसीव कर रही थी उधार ली हुई महिला, रुपए लेने घर पहुंचे तो दरवाजे पर ही मिल गया बेटा

अंबिकापुर. एक महिला ने स्व-सहायता समूह से रुपए उधार लिए थे। वह 3 महीने से लोन के किश्त न तो चुकता कर रही थी और न ही समूह के लोगों का कॉल रिसीव कर रही थी।

शनिवार को जब समूह की महिलाएं उधार के रुपए मांगने उसके घर गईं तो बाहर उसका बेटा मिल गया। उसने गाली-गलौज करते हुए समूह की एक महिला की डंडे से पिटाई (Women beaten) कर दी। महिला ने इसकी शिकायत गांधीनगर थाने में दर्ज कराई है। (Ambikapur Crime)


शहर के गंगापुरखुर्द नालापारा निवासी रजिया बेगम पति रूस्तम अंसारी महिला स्वयं सहायता समूह की सदस्य है। वह समूह द्वारा एल एंड टी लोन कंपनी से राशि लेकर जरूरतमंद महिलाओं को देने का काम करती है। गंगापुर नालापारा की ही शारदा सिंह ने समूह से लोन लिया है।

वह पिछले 3 माह से लोन की किश्त जमा नहीं कर रही थी। इतना ही नहीं, वह समूह के किसी भी सदस्य का फोन भी रिसीव कर रही थी। इससे परेशान होकर 2 नवंबर की शाम को रजिया एल एंड टी लोन कंपनी के शेषनारायण, रेशमा खान व अमिना बेगम के साथ शारदा सिंह के घर गई थी।

घर के बाहर शारदा सिंह का बेटा विशाल सिंह था। महिलाओं ने विशाल से कहा कि तुम्हारी मां लोन की किश्त नहीं पटा रही है। इस बात को लेकर विशाल भड़क गया। उसने कहा कि किश्त नहीं पटाएंगे तो क्या कर लोगे?

इसी बीच विशाल रजिया बेगम को भद्दी-भद्दी गालियां देने लगा और फिर वहीं रखे डंडे से उसकी पिटाई (Women beaten) कर दी। डंडे व पत्थर के वार से उसकी कनपट्टी में चोटें आईं।


बीच-बचाव कर ले गए अस्पताल
रजिया बेगम पर हमला होते देख साथ गए समूह के सदस्यों ने बीच-बचाव कर उसे छुड़ाया। फिर घायल हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल से लौटने के बाद रजिया बेगम ने इसकी शिकायत गांधीनगर थाने में दर्ज कराई है। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 294, 506, 323 के तहत अपराध दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अंबिकापुर की क्राइम की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Ambikapur Crime

[MORE_ADVERTISE1]