स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योगेन्द्र यादव हरियाणा विस चुनाव नहीं लड़ेंगे, पार्टी लड़ेगी

Yogendra Yogi

Publish: Jul 24, 2019 17:34 PM | Updated: Jul 24, 2019 17:34 PM

Ambala

Haryana assembly elections: चंडीगढ़ स्वराज इंडिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव हरियाणा में विधान सभा चुनाव लड़ने से इंकार (Refuse) , अपने उम्मीदवारों को जीताने की दिशा में ध्यान देंगे।

चंडीगढ़: आप पार्टी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के सहयोगी रहे और अब स्वराज इंडिया पार्टी ( Swarak India Party ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने हरियाणा में विधान सभा चुनाव ( Haryana assembly elections ) लड़ने से इंकार कर दिया है। यादव अपने बजाए अपने उम्मीदवारों को जीताने की दिशा में ध्यान देंगे। यादव ने उम्मीदवारों की पहली सूची ( Candidates first list ) भी जारी कर दी। इसमें 10 में से 3 महिलाएं और 2 युवा शामिल हैं।

धन्नासेठ—वंशवादी नहीं चलेंगे

उन्होंने कहा कि पार्टी ने उम्मीदवारों के चयन में काफी सावधानी बरती है। टिकट देने में खासतौर से उम्मीदवारों की पृष्ठभूमि ( Background of Candidates ) का ध्यान रखा गया है। टिकट वितरण में वंशवाद या धन्नासेठों को दूर रखा गया है। जातिगत आधार ( No Racism ) भी पैमाना नहीं माना गया है। सारा जोर उम्मीदवारों की छवि पर दिया गया है। उम्मीदवारों पर नजर रखने के लिए एक लोकपाल ( Lokpal ) की तैनाती भी की गई है।

आरक्षित वर्ग से संबंध रखने वाले योग्य उम्मीदवार को भी केवल आरक्षित सीटों तक सीमित रखने की राजनैतिक परंपरा को तोड़कर स्वराज इंडिया ने एक नई शुरुआत की है। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष यादव ने कहा कि हमारे लिए राजनीति एक धंधा (Not A Profession ) नहीं है। आज जब पूरे प्रदेश में बीजेपी ( BJP ) में घुसने की होड़ लगी हुई है, ऐसे में इन उम्मीदवारों ने स्वराज इंडिया का झंडा उठाकर स्वार्थी नहीं सारथी बनने की हिम्मत दिखाई है। इन्हें 3 महीने नहीं, अगले साढ़े 5 साल का टिकट मिला है।