स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नौकरी छोड़ क्यों राजनीति के दंगल में उतरी बबिता फोगाट

Brijesh Singh

Publish: Aug 12, 2019 18:01 PM | Updated: Aug 12, 2019 18:01 PM

Ambala

babita phogat: बालीवडु फिल्म दंगल के बाद घर-घर बेटियों का लोहा मनवाने वाली फोगाट बहनों ( Phogar Sisters ) में से एक बबिता फोगाट ने अब एक नया रास्ता चुना है।

( अंबाला/चंडीगढ़, संजीव शर्मा )। बालीवडु फिल्म दंगल के बाद घर-घर बेटियों का लोहा मनवाने वाली फोगाट बहनों में से एक बबिता फोगाट ने अब एक नया रास्ता चुना है। बबिता अब राजनीतिक दंगल में कदम रखने जा रही हैं, जो शायद इसी साल अक्टूबर के महीने में हरियाणा में संभावित है। बबिता के इस राजनीतिक दंगल में आजमाइश का उनके प्रिय खेल कुश्ती पर कितना फर्क पड़ेगा, यह तो वही जानें, लेकिन हाल-फिलहाल तो बबिता ने अपने इस नए मिशन के लिए जमी-जमाई नौकरी से भी किनारा कर लिया है।

अब तक सत्ता के खिलाफ रही हैं फोगाट बहनें

बलाली बहनें तथा उनके पिता अब तक कई मोर्चों पर हरियाणा सरकार से टक्कर लेते रहे हैं। कई सार्वजनिक मंचों पर सरकार की आलोचना करते रहे हैं लेकिन अब बदली हुई परिस्थितियों में दोनों पिता-पुत्री ने सरकार की जहां जमकर तारीफ की, वहीं बबीता फोगाट ने सरकारी नौकरी ( Babita Phogat ) तक छोडऩे का जोखिम उठा लिया। दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू, भाजपा प्रभारी अनिल जैन और प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला की मौजूदगी में फोगाट पिता-पुत्री ने भाजपा ज्वाइन की।

बबिता ने नौकरी छोड़ी, पिता ने बदली दलीय निष्ठा

भारत में महिला कुश्ती को नई पहचान दिलाने वाली दंगल गर्ल बबीता फोगाट ( Babita Phogat ) और उनके पिता द्रोर्णाचार्य अवार्डी महावीर फोगाट ( Mahavir Phogat ) ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। बबीता फोगाट ने जहां हरियाणा में पुलिस की नौकरी से इस्तीफा देकर भाजपा का दामन थामा है, वहीं उनके पिता महावीर फोगाट ने जननायक जनता पार्टी ( JJP ) खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर भाजपा में आस्था जताई है।

दादरी या बाढड़ा से लड़ सकती हैं एमएलए का चुनाव

बबीता के दादरी या बाढड़ा विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने के आसार हैं। हरियाणा में अक्तूबर माह में चुनाव होेने की संभावना है। फोगाट परिवार का शुरू से ही ताऊ देवीलाल परिवार ( Chautala Family ) के साथ बेहद नजदीकी रिश्ता रहा है। इनेलो के दोफाड़ होने के बाद फौगाट परिवार दुष्यंत चौटाला ( Dushyant Chautala ) के समर्थन में जेजेपी में शामिल हो गया था।

370 पर मोदी की तारीफ कर दिया था संकेत
पहलवान महावीर फोगाट तथा उनकी बेटी बबीता फोगाट ने अंतिम समय तक इस बात का खुलासा नहीं किया कि वह भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं लेकिन बबीता ने 5 अगस्त को ट्वीट करके मोदी सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 ( Article 370 ) खत्म करने का स्वागत किया था। बबीता ने एक ट्वीट करते हुए कहा था, देश की आजादी देखने का मुझे सौभाग्य नहीं मिला। कश्मीर को 370 और 35 ए से मुक्ति मिल जाए यह मेरा परम सौभाग्य होगा। भारत माता की जय। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने हरियाणवी भाषा में कहा था कि लठ गाड़ दिया, धुम्मा ठा दिया।

खट्टर के अटपटे बयान का बचाव
बबीता ने दो दिन पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कश्मीरी लड़कियों के संबंध में दिए गए अटपटे बयान पर मचे बवाल के बाद सीएम का बचाव करते हुए लिखा था कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ( Manohar lal Khattar ) ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है, जिसमें हमारी बहन-बेटियों के बारे में गलत बोला गया हो, मेरी मीडिया से प्रार्थना है कि उनके बयान को गलत तरीके से जनता के सामने पेश न करें।

कौन है फोगाट पिता व पुत्री
हरियाणा चरखी दादरी जिले के बलाली गांव के रहने वाले द्रोणाचार्य अवॉर्डी पहलवान महावीर फोगाट उस शख्शियत के तौर पर जाने जाते हैं, जिन्होंने हरियाणा में विरोध के बावजूद लड़कियों को घर से बाहर निकलकर कुछ करने का जज्बा पैदा किया। महावीर फोगाट ने अपनी चारों बेटियों गीता फोगाट, बबीता फोगाट, रितु फोगाट और संगीता फोगाट के साथ-साथ अपने भतीजी विनेश फोगाट और प्रियंका को भी इंटरनैशनल रेसलर बना कर उस मुकाम तक पंहुचाया, जहां पूरा देश उन पर गर्व करता है। विदेशों में इन्ही के नाम से चरखी दादरी ( Charkhi Dadri ) के बलाली गांव की पहचान बन चूकी है। मशहूर अभिनेता आमिर खान ( Amir Khan ) ने महावीर फोगाट व उनकी बेटी गीता, बबीता पर बॉलीवुड फिल्म दंगल बनाई थी, जिसने अनेकों रिकार्ड तोड़े थे। इस फिल्म में आमिर खान ने खुद महावीर का किरदार निभाया था।

हरियाणा की ताजा तरीन खबरों के लिए यहां क्लिक करें...