स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

‘नशे से नाश’ नाटक में बताए नशे के दुष्परिणाम

Kailash Chand Sharma

Publish: Oct 21, 2019 04:00 AM | Updated: Oct 21, 2019 01:26 AM

Alwar

‘नशे से नाश’ नाटक में बताए नशे के दुष्परिणाम


अलवर. राजस्थान पत्रिका और कला भारती के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को नंगली सर्किल पर नुक्कड नाटक नशे से नाश का मंचन किया गया।
नाटक के रचयिता जितेंद्र साबिर ने बताया कि नशा एक बुराई है जिसे जागरुकता से ही खत्म किया जा सकता है। इस मौके पर कोर्डिनेटर एकता शर्मा, मंजीत सिंह, सरस्वती जांगिड़, आदित्य चौहान, गौरव शर्मा, तनिष्क, सक्षम शर्मा, संजीव राजपूत, राघव डागा, ऋषभ बंसल, शुभम सोनी, कुलदीप सैनी, यश जांगिड, हेमंत प्रजापत, भारतीय सिंह, ललित सोनी, कार्तिक सैनी, श्वेता शर्मा, नेहा नरूका, स्वस्ति, मनोज, यश शर्मा आदि मौजूद थे। नाटक मंचन में सन प्रिंटर, देव ड्रेस और गणेश म्यूजिक का सहयेाग रहा।
वार्ड की बात, अब बनाएंगे अच्छा नेता
अलवर. मेरा वार्ड, मेरी बात पत्रिका के अभियान के तहत अब नगर निकाय चुनाव से पहले मतदाताओं के मन में यह बात आने लगी है कि इस बार अच्छा नेता ही चुनकर भेजेंगे। ताकि पूरे पांच साल जनप्रतिनिधि उनके बीच में रहे और जरूरत के विकास के कार्य कराए। सक्षम जनप्रतिनिधि होने पर भी विकास संभव है। जनप्रतिनिधि बनने के बाद जनता का कम खुद का ज्यादा ध्यान देने वाले जनप्रतिनिधियों से अब जनता ऊब चुकी है।
वार्ड १३ में नुक्कड़ सभा कर जन चेतना : वार्ड पार्षद के चुनावों में युवाओं का रुझान चरम पर है। वार्ड नंबर 13 में युवाओं ने मिलकर एक नुक्कड़़ सभा की। जिसमें वार्डवासियों को उनके वहां की समस्याओं के फोटो और वीडियो बनाकर उन्हें दिखाया गया। युवा गर्वित शर्मा ने बताया कि वार्ड के चुनाव हर 5 साल में आते है जिनमें हम पार्षद चुनकर भेजते है लेकिन, हमारे वार्ड में आज तक कोई जमीनी कार्य नहीं हुआ है। हमारी माताएं बहनें पानी के लिए कितना परेशान होती हैं। अब लगने लगा है कि वार्ड की कमान अब युवा हाथों मंे लेनी होगी।
वार्ड ८ में जनमुद्दों पर बात : शहर के वार्ड ८ में जनमुद्दों पर बात होते होते चेंजमेर पर भी हुई। यहां कुछ युवाओं की टोली मतदाताओं के बीच में पहुंची। हर जगह पानी की समस्या सबसे पहले आती है। खासकर महिलाएं कहती है कि जनप्रतिनिधियों ने उनकी पानी की समस्या का समाधान नहीं कराया। मांगी लाल सैनी, आनी देवी, सुभाष सैनी व कमला देवी ने कहा कि जनप्रतिनिधि उस समय नहीं आते जब जन समस्या सामने होती है। अब हम अच्छे प्रतिनिधि को ही चुनेंगे। यहां युवाओं ने पत्रिका चेंजमेकर के बारे में भी जानकारी
दी गई।