स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चुनाव परिणामों के बाद तीन जिलों के तीन गांवों में पथराव, फायरिंग, 30 घायल

Subhash Raj

Publish: Jan 19, 2020 23:21 PM | Updated: Jan 19, 2020 23:21 PM

Alwar

अलवर. पूर्वी राजस्थान के तीन जिलों के तीन गांवों में चुनावी रंजिश के चलते पथराव, आगजनी तथा फायरिंग में करीब ढाई दर्जन लोग घायल हो गए। तीनों घटनाएं शनिवार को पंचायत राज के प्रथम चरण में हुए चुनावों के परिणाम घोषित होने के बाद हुई।

इनमें दो घटनाएं रविवार को हुई। तीनों गांवों में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। फिलहाल स्थिति काबू में है। पुलिस के अनुसार धौलपुर पंचायत समिति की मढ़ाभाऊ ग्राम पंचायत के जगरियाकापुरा में रविवार सुबह चुनावी रंजिश को लेकर दो पक्षों में पहले पथराव तथा बाद में फायङ्क्षरग हो गई। इसमें एक पक्ष के तीन जने घायल हो गए। जिनको राजकीय सामान्य चिकित्सालय धौलपुर में भर्ती कराया गया है, जहां से एक को जयपुर रैफर कर दिया गया। जीते प्रत्याशी श्रीकृष्णा तथा हारे हुए प्रत्याशी मोहित चौधरी के समर्थकों में विवाद के बाद पथराव और फायरिंग की गई।
अलवर के कठूमर में रविवार को सरपंच का विजय जुलूस निकालने के दौरान दो पक्षों में जमकर पथराव हुआ। पथराव से कई लोगों को चोटें आई और संपत्ति को नुकसान पहुंचा। बाइकों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। रविवार सुबह करीब 11 बजे सरपंच पद पर पराजित हुई ग्राम जाड़ला निवासी रेखा के चाचा ससुर निहाल सिंह कार से अपनी बहन को छोडऩे बड़ौदा कान बस स्टैंड पर जा रहे था। इसी दौरान गांव के बाहर विजयी प्रत्याशी बाड़ला निवासी पूजा का विजय जुलूस निकल रहा था। साइड लेने को लेकर मारपीट हो गई। अन्य समर्थकों के आ जाने के बाद पथराव किया गया जिसमें कई को चोट आई हैं।
भरतपुर के गांव सोलपुर में रविवार को एक बार फिर झगड़ा बढ़ गया। पुलिस के सामने ही पथराव व फायरिंग हुई। एक मकान समेत दो वाहनों में आग लगा दी गई। कई लोग घायल हो गए। कैथवाडा सरपंच सबीला खान के पक्ष की इसाक पक्ष से पुरानी रंजिश है। चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद शनिवार को दोनों पक्ष एक दूसरे से भिड़ गए थे, लेकिन पुलिस ने मामले को शांत करा दिया था। रविवार को दोनों पक्ष फिर आमने-सामने हो गए और पथराव एवं हवाई फायरिंग की गई।

[MORE_ADVERTISE1]